JharkhandLead NewsRanchi

हटाये गये TVNL के MD अरविंद कुमार सिन्हा, अनिल कुमार शर्मा को मिला प्रभार

Ranchi : टीवीएनएल के एमडी अरविदं कुमार सिन्हा को हटा दिया गया है. इससे संबंधित औपचारिक आदेश गुरुवार को ऊर्जा विभाग ने जारी किया.

अरविंद की जगह टीवीएनएल के जीएम अनिल कुमार शर्मा को इसका अतिरिक्त प्रभार दिया गया है. ऊर्जा विभाग द्वारा जारी आदेश के मुताबिक अरविंद ने उनके खिलाफ आरोपों और उसकी जांच के बाद विभाग को अपना त्यागपत्र सौंपा था. इसे स्वीकृत कर लिया गया है. इस स्थिति में अब उन्हें उनके पद से हटा दिया गया है.

विभाग ने यह भी कहा है कि अरविंद सिन्हा के वेतन में जो अवैध तरीके से वृद्धि की गयी थी, उसका हिसाब करते हुए तीन दिनों के अंदर वांछित राशि को विभागीय कोष में जमा किया जाये.

इसे भी पढ़ें :रिनपास में वर्षों से नहीं हैं स्थायी निदेशक, अब नियुक्ति नियमावली में होगा संशोधन

advt

सरकार ने बनायी थी जांच समिति

गौरतलब है कि पूर्व विधायक योगेंद्र प्रसाद ने सरकार को टीवीएनएल और उसके प्रबंधन के बारे में शिकायत करते चिट्ठी लिखी थी. इसके बाद सीएम हेमंत सोरेन के निर्देश पर टीवीएनएल में गडबड़ियों के लिए जांच समिति बनायी गयी.

चार सदस्यीय जांच समिति ने एमडी अरविंद सिन्हा को हटाने की अनुशंसा की. सीएम ने इस पर अपनी सहमति 2 जून को दे दी. साथ ही समिति ने एमडी द्वारा निर्धारित वेतन से अधिक पैसे लेने के मामले को भी सामने लाया था.

इसके लिये भी सरकार के स्तर से आदेश जारी करते हुए रिकवरी को कहा गया था. इसके बाद से फाइल राजभवन में पड़ी थी. वहां से स्वीकृति मिलते ही ऊर्जा विभाग ने 17 जून को आदेश जारी कर दिया.

इसे भी पढ़ें :टाटानगर-हटिया पैसेंजर का टाइम बदला

एमडी ने एचआर को हटाया

जांच समिति की अनुशंसा के बाद एमडी अरविंद सिन्हा ने एचआर (एचओडी) भोला सिंह को उसके पद से हटाने का आदेश जारी कर दिया था. उसे केवल लीगल आफिसर के तौर पर ही अपना काम करने को कहा था.

जानकारी के मुताबिक भोला और उससे जुड़े दो-तीन लोगों की हरकतों से एमडी ने नाराजगी जताते हुए यह आदेश जारी किया था. एचआर का दायित्व श्वेता लवली पूर्ति को सौंप दिया गया था.

भोला सिंह के अलावा सौरभ झा (DA-LA) और पी आर रेमनन (PS) को भी एमडी ने लापरवाह माना था. आदेश जारी करते हुए कहा था कि इनके वेतन वृद्धि के मामले में पूर्व के आदेशों को निरस्त किया जाता है. साथ ही इसकी रिकवरी भी तीनों की सैलरी से की जायेगी.

इसे भी पढ़ें :रिनपास में वर्षों से नहीं हैं स्थायी निदेशक, अब नियुक्ति नियमावली में होगा संशोधन

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: