Corona_UpdatesRanchi

15 जिलों में शुरू हुई ट्रूनेट मशीन, केंद्र से मिली है 22 मशीनें, राज्य सरकार ने और 30 का किया है ऑर्डर 

Ranchi: रांची, गढ़वा, गिरिडीह, दुमका और साहेबगंज जिला में ट्रूनेट मशीन से जांच की शुरुआत हो गयी है. यह मशीनें जिले के सदर अस्पताल में लगायी गयी हैं. इन पांच जिलों के सदर अस्पताल के अलावा दस अन्य जिलों में मशीनें पहुंच चुकी है. इसे जल्द ही इंस्टॉल किया जाएगा. 

इसे भी पढ़ेंःICSE बोर्ड ने जारी किया 10वीं व 12वीं का टाइमटेबल, 2 से 12 जुलाई तक होगी परीक्षा

गर्भवती महिलाओं की जांच हुई सरल 

ट्रूनेट मशीन के लग जाने से गर्भवती महिलाओं की परेशानी दूर हो रही है. ट्रूनेट मशीन से इमरजेंसी की स्थिति में एक घंटे में दो महिलाओं के सैंपल की जांच हो जा रही है. जिससे यह पता चल जा रहा है कि महिलाओं को कोरोना संक्रमण है या नहीं. ट्रूनेट मशीन से अब तक 100 से अधिक महिलाओं की जांच की जा चुकी है. अगले एक सप्ताह में अन्य 10 सदर अस्पतालों में भी कोरोना संक्रमण की जांच इमरजेंसी परिस्थितियों में की जा सकेगी.

advt

पलामू, लातेहार, चतरा, हजारीबाग, कोडरमा, देवघर गोड्डा और पाकुड़ में स्वास्थ्य कर्मियों ने मशीन को ऑपरेट करने की ट्रेनिंग पूरी कर ली है. राज्य सरकार ने 30 ट्रूनेट मशीनों के ऑर्डर किये हैं. इसके अलावा केंद्र सरकार 22 ट्रूनेट मशीन राज्य को दे रही है. जिसे राज्य के विभिन्न स्वास्थ्य उपक्रमों में लगाया जाएगा.

इसे भी पढ़ेंःपीएम मोदी के अंतरिम मदद पर भड़की ममता, कहा- नुकसान 1 लाख करोड़ का हुआ मिले 1000 करोड़

स्वास्थ्यकर्मियों में संक्रमण की संभावना घटी

माइ्रक्रोबॉयोलॉजी विभाग के डॉक्टर ने बताया कि ट्रूनेट मशीन के आ जाने से आरटी पीसीआर टेस्ट की निर्भरता मंए कमी आएगी. आरटीपीसीआर जांच सेंटरों का भार कम होगा. ट्रूनेट मशीन के लगाये जाने का डॉक्टरों ने स्वागत किया है. उनका कहना है कि ट्रूनेट लगाये जाने से स्वास्थ्य कर्मियों के इंफेक्शन का खतरा भी कम होगा.

गर्भवती महिलाओं के इलाज में आ रही परेशानी के कारण स्वास्थ्य विभाग ने यह निर्णय लिया था. इस मशीन से इमरजेंसी की स्थिति में एक घंटे के अंदर दो लागों के सैंपल की जांच की जा सकेगी. जिसके बाद इलाज करने में किसी तरह के खतरे की संभावना नहीं रहेगी. रांची में तीन बार ऐसा हुआ की गर्भवती महिलाओं के प्रसव के बाद उन्हें पॉजिटिव पाया गया. जिस कारण छह नर्स भी कोरोना के चपेट में आ गयी थीं.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: