न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

संदेहास्पद स्थिति में मिला ट्रक चालक का शव, परिजनों ने हत्या का आरोप लगाकर थाना में किया हंगामा

प्रेम-प्रसंग से जुड़े हो सकते हैं हत्या के तार  

1,314

Giridih:  गिरिडीह के औद्योगिक क्षेत्र के हरसिंगरायडीह मोड़ में सड़क किनारे 45 वर्षीय ट्रक चालक झरियागादी निवासी राजेन्द्र ठाकुर का शव मिला है. सोमवार को अहले सुबह शव मिलने के बाद झरियागादी में कोहराम मच गया. शव के साथ मृतक की साईकिल भी मिली है.

शव मिलने के बाद परिजनों ने राजेन्द्र की हत्या का आरोप लगाकर मुफ्फसिल थाना में हंगामा किया. आरोपियों के खिलाफ लिखित आवेदन देकर कार्रवाई की मांग की है.

Trade Friends

इसे भी पढ़ेंः पर्यावरण संरक्षण अखड़ों तक सीमित न रहे, हर किसी की भागीदारी हो: द्रौपदी मुर्मू

मृतक के सर में मिले चोट के निशान

हंगामा कर रहे लोगों को थाना प्रभारी सह प्रशिक्षु आईपीएस नाथु सिंह मीणा और थाना निरीक्षक रत्नमोहन ठाकुर ने समझा-बुझाकर शांत किया. इधर राजेन्द्र की हत्या से इनकार करते हुए थाना प्रभारी सह प्रशिक्षु आईपीएस नाथु सिंह मीणा ने कहा कि मृतक के मोबाइल का कॉल डिटेल निकाला गया है.

पथराव में क्षतिग्रस्त मकान.

साथ ही हरसिंगरायडीह के एक शराब दुकानदार से भी पूछताछ की गयी है. दुकानदार ने बताया कि रात करीब नौ बजे राजेन्द्र ने शराब पी थी. यह स्पस्ट नहीं हो पाया कि मौत कैसे हुई. हालांकि शव मिलने के कुछ घंटों बाद पुलिस ने शव के पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भिजवाया.

अस्पताल के चिकित्सक सह फोरेंसिक एक्सपर्ट डॉ सूनील सिंह और डॉ राजीव कुमार ने ट्रक चालक के शव का पोस्टमार्टम किया. मृतक के सर पर चोट के निशान मिले हैं. इधर पुलिस सर पर चोट लगने की बात से इनकार कर रही है. सवाल है कि आखिर मृतक के सिर पर चोट कैसे लगी, चिकित्सक के बयान को मानने से पुलिस इनकार क्यों कर रही है?

इसे भी पढ़ेंः पलामू: जदयू को बड़ा झटका, दर्जनों पार्टी नेताओं-कार्यकर्ताओं ने दिया इस्तीफा

यादव परिवार के घरों पर किया पथराव

WH MART 1

इधर राजेन्द्र की हत्या का आरोप लगाकर मृतक के परिजनों समेत स्थानीय लोगों का गुस्सा फूट पड़ा. इसके बाद राजेन्द्र यादव की हत्या का आरोप लगाकर परिजनों और इलाके के स्थानीय लोगों ने झरियागादी के ही यादव परिवार के आधा दर्जन घरों में पथराव किया. इससे कुछ घर क्षतिग्रस्त हो गये.

तनाव देखते हुए पुलिस ने किया कैंप

झरियागादी में हुए पथराव की घटना की जानकारी मुफ्फसिल और नगर थाना पुलिस को मिलने के बाद दोनों थानों से काफी संख्या में पुलिस जवान पदाधिकारियों के साथ पहुंचे.

इलाके में तनाव को देखते हुए दोनों थाना के एसआई संजय कुमार, माहताब आलम, राजीव सिंह की अगुवाई में पुलिस बल ने कैंप किया. पथराव में जिनके घर क्षतिग्रस्त हुए हैं, उनमें हकीम यादव, गुलाब यादव, प्रेम यादव, सुधीर यादव, विष्णु यादव शामिल हैं.

प्रेम-प्रसंग से जुड़ा हो सकता है मामला

संदेहास्पद मौत का यह मामला पुराने विवाद से जुड़ा बताया जा रहा है. परिजनों ने शक जताया कि झरियागादी निवासी गुलाब यादव की बेटी के साथ गांव के ही बृहस्पति ठाकुर के बेटे बिटृटु ठाकुर का प्रेम-प्रसंग चल रहा था.

जानकारी के अनुसार बिटृटु ठाकुर मृतक का भतीजा था. होली के दिन गुलाब की बेटी व बिटृटु ठाकुर दोनों घर छोड़कर भाग गये थे. लिहाजा, मृतक की बेटी नीलम ठाकुर, बेटा विशाल ठाकुर और पत्नी मंजू देवी समेत अन्य परिजनों ने गुलाब यादव, गेंदा यादव, गुडृडु यादव, रतन यादव, टीटू यादव, पवन और पांडे यादव पर हत्या का आरोप लगाया है.

इसे भी पढ़ेंः पेयजल समस्या को लेकर निगम एलर्ट, जोन वाइज हेल्पलाइन नंबर जारी

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

kohinoor_add

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like