न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

आसनसोल- तृणमूल पार्षद खालिद खान की गोली मारकर हत्या, पुलिस ने पारिवारिक विवाद बताया कारण

तृणमूल का टिकेट पाने को लेकर की गयी हत्या : भाई अरमान 

1,574

Asansol : लोकसभा का चुनाव बीत जाने के बाद भी पश्चिम बंगाल में राजनीतिक हत्याएं थमने का नाम नहीं ले रही हैं. ताजी घटना आसनसोल की है. यहां तृणमूल के पार्षद को गोली मारकर हत्या कर दी गयी. मृतक का नाम मोहम्मद खालिद खान (40) है. वह आसनसोल नगर निगम के 66 नंबर वार्ड के पार्षद थे.

उनका घर कुल्टी के मानबेड़िया इलाके में है. पुलिस से मिली जानकारी अनुशार शनिवार के देर रात को अपराधियों ने गोली मारकर कर दी. पार्षद खालिद प्रतिदिन रात को खाना खाने के बाद टहलने के निकलते थे और घर से मात्र सौ मीटर की दूरी पर रामनगर बराकर मुख्य मार्ग पर स्थित बादल की चाय दुकान में बैठते थे. उनके साथ स्थानीय लोग भी होते थे. शनिवार रात को मौसम खराब होने के कारण वे अकेले ही थे. जिसका फायदा उठाकर पहले से घात लगाकर बैठे अपराधियों ने उन्हें गोली मार दी.

इसे भी पढ़ेंः सिंधू विश्व चैम्पियनशिप में स्वर्ण जीतने वाली पहली भारतीय बनीं, नोजोमी ओकुहारा को फाइनल में दी शिकस्त

एक आरोपी गिरफ्तार

पुलिस को सूचना दी गयी. पुलिस उन्हें बराकर स्थित आस्था नर्सिंग होम ले गयी. चिकित्सकों ने गंभीर हालत देखते हुए जिला अस्पताल रेफर कर दिया. जहां चिकित्सकों ने मृत घोषित किया. मृतक के बड़े भाई अरमान खान ने अपने मौसेरे भाई टिंकू खान सहित अन्य तीन को मुख्य आरोपी बनाकर कुल्टी थाने में शिकायत दर्ज कराई. आसनसोल सृष्टि नगर में रह रहे टिंकू को आसनसोल साऊथ थाना पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. कांड में उपयोग बाइक को बराकर मारवाड़ी विद्यालय के पीछे मैदान से पुलिस ने लावारिस बरामद की.

दुकानों में की गयी तोड़फोड़

अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त (वेस्ट) अनामित्र दास ने इस कांड को पारिवारिक विवाद का कारण बताया. घटना को लेकर स्थानीय लोगों ने रविवार सुबह कई चरणों में रामनगर बराकर मुख्य मार्ग, बेगुनिया मोड़, बराकर स्टेशन, बराकर बस स्टैंड में उग्र प्रदर्शन किया. सड़कों पर टायर जलाकर सड़क अवरोध किया. बराकर बस स्टैंड से बसों के परिचालन को रोक दिया. कुछ दुकानों में भी तोड़फोड़ की गयी. भारी मात्रा में पुलिस बल की तैनाती की गई. मेयर सह तृणमूल के जिला अध्यक्ष ने मृतक के परिजनों से मुलाकात की और मृतक की पत्नी रजिया बेगम को नगर निगम में नौकरी और सात माह की पुत्री के नाम एक लाख रुपया जमा करने का आश्वासन दिया.

इसे भी पढ़ेंः बोकारो : तीन साल में बनना था ढाई किलोमीटर का ओवरब्रिज, साढ़े चार साल में भी अधूरा

ये लोग मिले मृतक के परिजनों से

स्थानीय विधायक उज्ज्वल चटर्जी, उप मेयर तबस्सुम आरा, बोरो चेयरमैन कृष्णा प्रसाद, संजय नोनिया, पार्षद प्रेमनाथ साव, अमित तुलसियान, पूर्व पार्षद पप्पू सिंह आदि नेताओं सहित भारी मात्रा में तृणमूल के नेता व समर्थक रविवार मृतक के परिजनों से आकर मुलाकात की. जांच के सिलसिले में पुलिस उपायुक्त (मुख्यालय) कुमार गौतम, अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त (वेस्ट) अनामित्र दास, खुफिया विभाग के निरीक्षक देबज्योति साहा मृतक के परिजन और आसपास के लोगों से बात की. जबकि पुलिस ने मामले में किसी राजनीतिक संलिप्तता से इनकार किया है.

खालिद के पार्थव शरीर को दी गयी श्रद्धांजलि

आसनसोल जिला अस्पताल से वार्ड संख्या 66 के पार्षद मोहम्मद खालिद खान के पार्थव शरीर को शव वाहन से नगर निगम मुख्यालय लाया गया. जिला तृणमूल अध्यक्ष सह मेयर जितेंद्र तिवारी, राज्य के श्रम व विधि मंत्री मलय घटक ने उनके शव पर पुष्प चढाकर श्रद्धांजली अर्पित की.

मृतक के आश्रितों को सहयोग का आश्वासन

मेयर श्री तिवारी ने पार्षद के परिजनों भाई अरमान खान से बात की और ढाढस बंधाया. श्री तिवारी ने घटना की निंदा करते हुए इसे कायराना घटना करार दिया. उन्होंने कहा कि पुलिस के वरिय अधिकारियों से बात की गयी है. पुलिस मामले की जांच कर रही है. जल्द ही आरोपियों को गिरफ्तार किया जायेगा. उन्होंने दुख की घडी में मृतक के आश्रितों को हर संभव सहयोग का आश्वासन दिया. मंत्री श्री घटक ने परिजनों के साथ मुलाकात की और घटना की जानकारी ली. उन्होंने परिजनों को कानून पर भरोसा रखने को कहा. श्री घटक ने कहा कि जो भी इसके पिछे होंगे वे जल्द ही पकडे जायेंगे.

इसे भी पढ़ेंः जमशेदपुर: मुख्यमंत्री रघुवर दास के ससुराल में लाखों की चोरी, पुलिस अब तक नहीं तलाश सकी है चोरों को

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
क्या आपको लगता है हम स्वतंत्र और निष्पक्ष पत्रकारिता कर रहे हैं. अगर हां, तो इसे बचाने के लिए हमें आर्थिक मदद करें.
आप अखबारों को हर दिन 5 रूपये देते हैं. टीवी न्यूज के पैसे देते हैं. हमें हर दिन 1 रूपये और महीने में 30 रूपये देकर हमारी मदद करें.
मदद करने के लिए यहां क्लिक करें.-

you're currently offline

%d bloggers like this: