न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

आजसू ने स्वामी विवेकानंद को दी श्रद्धांजलि

युवा दिवस के रूप में मनायी विवेकानंद की जयंती

568

Ranchi: अखिल झारखण्ड छात्र संघ (आजसू ) के द्वारा हरमू रोड स्थित आजसू पार्टी के प्रधान कार्यालय में स्वामी विवेकानंद की 156वीं जयंती को युवा दिवस के रूप में शनिवार को मनाया गया. कार्यक्रम में आजसू के पदाधिकारियों ने स्वामी विवेकानंद के चित्र पर माल्यार्पण कर उनको नमन किया. आजसू के प्रदेश अध्यक्ष गौतम सिंह ने कार्यक्रम का स्वामी विवेकानंद जी के चित्र पर पुष्प अर्पित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया. उन्होंने कहा कि स्वामी विवेकानंद युवाओं के प्रेरणा स्त्रोत हैं. उनका जन्मदिन राष्ट्रीय युवा दिवस के रूप में मनाये जाने का प्रमुख कारण उनका दर्शन, सिद्धांत, विचार और उनके आदर्श हैं. जिनका उन्होंने स्वयं पालन किया और भारत के साथ-साथ अन्य देशों में भी उन्हें स्थापित किया. पहले युवाओं के लिए एक ध्येय था कि उठो जागो और तब तक मत रुको, जब तक मंजिल प्राप्त न हो जाये. उनके ये विचार आज भी आदर्श युवाओं में नई शक्ति और ऊर्जा का संचार करता हैं. यह युवाओं की प्रेरणा का एक उम्दा उदाहरण साबित हो सकता है. किसी भी देश के युवा उसका भविष्य होते हैं. उन्हीं के हाथों में देश की उन्नति की बागडोर होती है.

विश्व धर्म संसद की चर्चा की 

आजसू के प्रदेश उपाध्यक्ष अब्दुल जब्बार ने बताया कि अमेरिका के शिकागो में सन् 1893 में आयोजित विश्व धर्म संसद में दुनिया के सभी धर्मों के प्रतिनिधियों के बीच सनातन धर्म का प्रतिनिधित्व करते हुए स्वामीजी ने भारत की अतुल्य विरासत और ज्ञान का डंका बजा दिया था. आज अधिकतर लोग जानते हैं कि उन्होंने  भाषण में वसुधैव कुटुंबकम की भावना से अवगत करवाया था. आजसू के रांची विश्वविद्यालय अध्यक्ष नीतीश सिंह ने कहा कि आज वर्तमान दौर में युवाओं के भागीदारी सामाजिक, वैश्विक एवं राजनीतिक तौर पर अत्यंत आवश्यक हो गयी है. आज समाज में भ्रष्टाचार, आपराधिक एवं सामाजिक कुरीतियों के विपरीत जाने की जिम्मेदारी युवाओं की है. पूरा समाज युवाओं की ओर टकटकी भरी निगाहों से देख रहा है.

मौके पर ये लोग थे मौजूद 

कार्यक्रम में मुख्य रूप से गौतम सिंह, अब्दुल जब्बार, ओम वर्मा, अजित कुमार, नीतीश सिंह, सोनू कुमार, अर्जुन गुप्ता, राहुल तिवारी, मोहित पांडेय, जमाल गद्दी, राहुल पांडेय, मो. हुसैन, इकरामुल, योगेश महतो, विक्की यादव, आकाश शाहदेव, अनुराग सिंह, मोनू सिंह, अभिषेक सिंह राजपूत आदि उपस्थित थे.

इसे भी पढ़ेंः सिमडेगा : पारा शिक्षकों की हड़ताल से बंद स्कूलों में पढ़ाने गये थे प्रशिक्षु शिक्षक, अब खुद उनकी पढ़ाई हो गयी बंद

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

%d bloggers like this: