न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

जनजातीय युवा अपनी शक्ति और उत्साह का उपयोग गरीबों के कल्याण में करें : सीएम

सीएम ने युवा समूहों के बीच 1.67 करोड़ से अधिक का चेक वितरित किया

22

Ranchi : मुख्यमंत्री रघुवर दास ने जनजातीय युवाओं का आह्वान किया है कि वे अपनी शक्ति और उत्साह का उपयोग गरीबों के कल्याण में करें. उन्होंने कहा है कि भगवान बिरसा मुंडा, नीलांबर-पीतांबर, सिदो-कान्हू और अन्य शहीदों ने अपने लिए कुछ नहीं किया, बल्कि अपने समाज, गांव, माटी का कर्ज अदा करने का काम किया. रांची विवि के आर्यभट्ट सभागार में आयोजित युवा समूह सम्मेलन को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने यह बातें कहीं. झारखंड आदिवासी सशक्तिकरण एवं आजीविका परियोजना तथा झारखंड जनजातीय विकास सोसाइटी की तरफ से आयोजित किया गया था. मुख्यमंत्री ने कहा कि युवा विकास की तरफ अंगड़ाई लें. आदिवासी, जनजाति और गरीब कल्याण के लिए काम करें. इनके कल्याण के लिए लंबी छलांग लगाने की जरूरत है. संविधान में प्रदत्त अधिकारों के जरिये हम इन्हें न्याय दिला पायेंगे.

इसे भी पढ़ें: एजी कार्यालय के ऑडिटर पर नाबालिग से छेड़छाड़ करने और दुष्कर्म की धमकी देने का मामला दर्ज

युवा समूह अपने गांवों के विकास की जवाबदेही लें

मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्हें संथाल के जनजातीय लोगों की समस्याएं व्यथित करती हैं. संथाल में गठित युवा समूह अपने गांवों के विकास की जवाबदेही लें. संथाल के युवक और युवतियां अब रोजगार की तलाश में दूसरी जगह नहीं जायें, वे गांवों में जाकर गरीबी उन्मूलन कार्यक्रम में भागीदार बनें. मुख्यमंत्री ने कहा कि जनजातीय समाज के लोग सिर्फ बकरी और सुअर पालन के लिए नहीं हैं. इन्हें इससे आगे की सोंचने की आवश्यकता है. संथाल में शिक्षा का स्तर सुधारने से समस्याओं का निदान हो जायेगा.

इसे भी पढ़ें: छठ घाट निरीक्षण को पहुंचे सीपी सिंह, कहा तालाब को तालाब ही रहने दें, एक इंच भी न करें छोटा 

गांव की मिट्टी को शहीद स्मारक का हिस्सा बनायें

मुख्यमंत्री ने कहा कि रांची के पुराने जेल को धरती आबा का सांस्कृतिक विरासत बनाया जा रहा है. यहां पर शहीदों के गांवों की मिट्टी मंगायी जायेगी. 9 जनवरी 2018 से लेकर 23 जनवरी तक इसके लिए विशेष अभियान चलाया जायेगा. 23 जनवरी को नेताजी की जयंती के दिन मोरहाबादी मैदान में लायी गयी मिट्टी को एकत्रित कर पुराना जेल परिसर लाया जायेगा.

इसे भी पढ़ें: एनडीसी ने पूर्व सीएम बाबूलाल की सुरक्षा को कैसे खतरे में डाला, जिला प्रशासन की छवि हुई खराब

युवा समूह से 2.11 लाख परिवारों को जोड़ने का लक्ष्य

सरकार की तरफ से जनजातीय युवा समूहों का गठन कर 14 आदिवासी बाहुल्य क्षेत्र के 2.11 लाख परिवारों को जोड़ा गया है. इस योजना से 5,360 महिला समूह और 707 युवा समूहों को जोड़ा गया है. मुख्यमंत्री ने अपने विवेकानुदान कोष से 671 समूहों को 25-25 हजार रुपये का चेक भी सौंपा. इन समूहों के बीच 1.67 करोड़ से अधिक की राशि वितरित की गयी. 5-5 किशोरी युवा समूहों के बीच भी यह चेक सौंपी गयी. उन्होंने लॉ-कोस्ट शेड समेत बकरी प्रजनन केंद्र और किसान सेवा केंद्र का उद्घाटन भी किया.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: