JamshedpurJharkhand

सरना धर्म कोड की मान्यता को लेकर 30 को  झारखंड सहित 5 राज्यों में धरना देंगे आदिवासी संगठन

Jamshedpur : आदिवासी संगठनों द्वारा सरना धर्म कोड की मान्यता को लेकर आगामी 30 सितंबर झारखंड, बंगाल, बिहार, ओडिशा और असम के आदिवासी बहुल जिला मुख्यालयों पर धरना-प्रदर्शन किया जायेगा. धरना के बाद जिलाधीशों को ज्ञापन सौंप कर राष्ट्रपति से सरना धर्म कोड को अविलंब मान्यता देने की मांग की जायेगी. सभी आदिवासी संगठनों और प्रबुद्ध जनों को इस कार्यक्रम में आमंत्रित किया जाएगा. 30 सितंबर के बाद संयुक्त बैठक कर चरणबद्ध आंदोलन की रूपरेखा तय की जायेगी. सोमवार को रांची के टूनकीटोली, बरियातू सरना धर्म कोड की मान्यता आंदोलन को लेकर आयोजित संयुक्त बैठक में यह फैसला किया गया.

इसे भी पढ़ें – पश्चिमी सिंहभूम जिले में विलय के कारण खाली पड़े हैं 120 स्कूल भवन, होगा बेहतर उपयोग

advt

बैठक में सालखन मुर्मू को उनके प्रयासों और नेतृत्व के लिए बधाई दी गयी. लोगों ने महसूस किया कि केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा भारत के रजिस्ट्रार जनरल (जनगणना) को सरना धर्म कोड की मान्यता के लिए 6 सितंबर 21 को भेजे गये पत्र से आदिवासी समाज में उत्साह का संचार हुआ है. बैठक में आदिवासी सेंगेल अभियान के अध्यक्ष पूर्व सांसद सालखन मुर्मू, केंद्रीय सरना समिति के अध्यक्ष फूलचंद तिर्की, अखिल भारतीय आदिवासी विकास परिषद के अध्यक्ष सत्यनारायण लकड़ा के साथ सुमित्रा मुर्मू, संजय तिर्की, विनय टोप्पो, नीरा टोप्पो, सोनी तिर्की, ज्योति मुर्मू, भुबनेश्वर लोहरा, प्रमोद एक्का, निर्मला कुजूर, घनश्याम टुडू, महेंद्रा बेक, प्रदीप खलखो आदि  शामिल हुए.

 

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: