JharkhandRanchi

झारखंड राज्य खनिज विकास निगम के कामकाज में पारदर्शिता की दरकार, राजस्व का हो रहा नुकसानः दीपक प्रकाश

Ranchi : झारखंड राज्य खनिज विकास निगम के कामकाज में पारदर्शिता लाये जाने की मांग प्रदेश भाजपा ने उठायी है. इस संबंध में प्रदेश अध्यक्ष और सांसद दीपक प्रकाश ने सीएम को शनिवार को पत्र भी लिखा है.

इसमें उन्होंने कहा है कि खनिज विकास निगम में अनियमितता बरती जा रही है. निगम में उसके नियमों और उद्देश्यों का उल्लंघन हो रहा है. यह चिंतनीय है.

झारखंड राज्य खनिज विकास निगम के उद्देश्य की अनदेखी से राज्य का और राजस्व का भी नुकसान हो रहा. पत्र के माध्यम से उन्होंने सरकार का ध्यान आकृष्ट कराते हुए संबंधित बिंदुओं पर एक्शन लेने को कहा है.

इसे भी पढ़ें- रांची से नयी दिल्ली और पुणे के लिए स्पेशल ट्रेनें 5 फरवरी से

advt

उद्देश्यों में फेल हो रहा निगम

दीपक प्रकाश के मुताबिक निगम के गठन का असल मकसद स्थानीय उद्योग जगत के विकास में मदद करना है. साथ ही स्थानीय उद्योग पर आश्रित जन साधारण के मूलभूत जरूरतों, उनके विकास और रोजगार में मदद करना है.

श्री प्रकाश ने कहा कि निगम में पारदर्शिता सुनिश्चित करने के लिए ई-ऑक्शन की व्यवस्था सुनिश्चित की गयी है. निगम द्वारा संचालित सिकनी कोलियरी के आवंटन मामले में ऐसा नहीं हुआ. गणपति कोल निर्यात कंपनी को इसे दे दिया गया. इससे इस खदान पर आश्रित जन साधारण का रोजगार बुरी तरह प्रभावित हुआ है.

कोयले की क्वालिटी के हिसाब से हो रेट

अलग-अलग प्रकार की गुणवत्तावाले कोयले का एक ही मूल्य रखा गया है. यह कहीं से भी नियम सम्मत नहीं है. आरओएम तथा स्टील कोयले का एक ही दाम रखने से राज्य को राजस्व का भारी नुकसान हो रहा है. स्थानीय उद्योग और जन साधारण के विकास की दिशा में गति देने के लिए उपर्युक्त बिंदुओं पर पुनर्विचार किया जाना चाहिए.

इसे भी पढ़ें- किसान आंदोलन में यूथ कांग्रेस की भूमिका तय करनी जरूरी : कुमार गौरव

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: