BokaroJharkhand

#DVC बेरमो माइंस का #CCL में हुआ हस्तांतरण, 26 लाख टन होगा कोयले का उत्पादन

Bermo ;  बेरमो अनुमंडल के एकमात्र डीवीसी की बेरमो माइंस का सीसीएल में रविवार को हस्तांतरण हो गया. बेरमो माइंस स्थित मैदान में कार्यक्रम आयोजित कर विधिवत सारी प्रक्रियाएं पूरी की गयी, सूर्य मंदिर के पुजारी संतोष शास्त्री ने विधि-विधान पूर्वक भूमि पूजन कार्य संपन्न कराया.

इसके बाद सीसीएल के सीएमडी गोपाल सिंह, डीवीसी के मेंबर सेक्रेटरी डॉ पीके मुखोपाध्याय, निदेशक एचआर एके वर्मा, पूर्व सांसद रविंद्र कुमार पांडे, सीसीएल के जीएम ऑपरेशन आरबी सिंह, निदेशक तकनीकी बीके श्रीवास्तव सहित अन्य अतिथियों ने नारियल फोड़ा तथा दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम की शुरुआत की.

इसे भी पढे़ं :   अज्ञात लोगों ने बोकारो थर्मल-बिष्णुगढ़ थाना की सीमा पर डीवीसी के छाई लदे हाईवा में आग लगायी

advt

कोयला मंत्रालय तथा ऊर्जा मंत्रालय बधाई के पात्र हैं

सीएमडी गोपाल सिंह ने कहा कि सीसीएल के बृहद परिवार का अब डीवीसी की बेरमो माइंस हिस्सा बन गई है, यह माइंस 26 लाख टन उत्पादन करेगी जो 6 गुना ज्यादा है जब उत्पादन बढ़ेगा तो विकास भी उतना ही होगा, कहा बेरमो माइंस यहां कार्यरत कर्मियों की विरासत रही है उनके हितों का भी पूरा पूरा ख्याल रखा जाएगा, सीसीएल विगत कई वर्षों से डीवीसी के साथ  हस्तांतरण के मुद्दे को लेकर वार्ता कर रही थी, इसमें सरकार के कोयला मंत्रालय तथा उर्जा मंत्रालय की अहम भूमिका रही जो बधाई के पात्र हैं.

इस माइंस के विस्तार में यहां के ग्रामीणों तथा यहां कार्यरत कर्मियों का अहम योगदान रहा है जिसे भुलाया नहीं जा सकता उनके हितों का भी पूरा-पूरा ध्यान कंपनी रखेगी. कहा यह कार्यक्रम रांची में भी बैठ कर किया जा सकता था परंतु ग्रामीणों तथा यहां के आसपास की जनता के बीच कार्यक्रम आयोजित करने का मकसद यह था कि आपकी जो मूलभूत समस्याएं है वह आप रख सकें, कहा खदानों के विकास से बेरमो की चमक बढ़ेगी.

इसे भी पढे़ं : जनादेश यात्रा के दूसरे दिन बाबूलाल पहुंचे चाईबासा, जमशेदपुर में भी सभा का आयोजन

डीवीसी की माइंस का सीसीएल में हस्तांतरण होना ऐतिहासिक पल

डीवीसी के मेंबर ऑफ सेक्रेटरी पीके मुखोपाध्याय ने कहा कि डीवीसी की इस माइंस का सीसीएल में हस्तांतरण होना ऐतिहासिक पल है, यह आपकी भलाई के लिए ही हो रहा है, हस्तांतरण से किसी को भी किसी तरह की कठिनाई नहीं होगी, डीवीसी पावर सेक्टर पर काम करती है, इसलिए हो सकता है कि वह माइनिंग के क्षेत्र में बेहतर नहीं कर पाई अब सीसीएल यहां अच्छी तरह से माइनिंग कार्य करेगी इससे उत्पादन बढ़ेगा और रोजी रोजगार भी बढ़ेंगे.

adv

पूर्व सांसद रविंद्र कुमार पांडे ने कहा कि डीवीसी के बेरमो माइंस का अपना एक इतिहास रहा है यहां के मजदूरों तथा आसपास के ग्रामीणों ने इसे ईमानदारी पूर्वक सींचा, आज इतिहास का पन्ना पलटने जा रहा है, प्रधानमंत्री, कोयला मंत्री तथा उर्जा मंत्रालय का यह निर्णय सराहनीय कदम है.

लोगों में दिखा हर्ष

सीसीएल में हस्तांतरण होने पर डीवीसी बेरमो माइंस के आसपास के क्षेत्रों में रहने वाले लोग तथा विस्थापित ग्रामीणों में हर्ष देखा गया, लोगों ने उम्मीद जताई कि कोयला उत्पादन बढ़ने से प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष रूप से यहां रहने वाले लोगों को अवश्य लाभ मिलेगा, कार्यक्रम में काफी संख्या में ग्रामीण भी उपस्थित हुए, ग्रामीण महिलाओं ने एक-एक कर सीएमडी का बुके देकर स्वागत भी किया सीएमडी ने भी उनके हितों का पूरा पूरा ख्याल रखने का आश्वासन दिया.

कार्यक्रम मे बीडीओ प्रवीण चौधरी, बोकारो थर्मल के परियोजना प्रधान कमलेश कुमार, टीके बनर्जी, सीसीएल के जीएम ऑपरेशन राम विनय सिंह, निदेशक तकनीकी बीके श्रीवास्तव मौजूद थे.

इसे भी पढे़ं : बोकारो थर्मल पावर प्लांट को 31 वें दिन किया गया लाईटअप, हुआ 350 मेगावाट बिजली का उत्पादन   

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button