JharkhandRanchi

दिव्यायन कृषि विज्ञान केंद्र में उर्वरक के उपयोग पर दिया गया प्रशिक्षण

Ranchi : कृषि के दौरान उर्वरक के संतुलित उपयोग विषय पर मोरहाबादी स्थित दिव्यायन कृषि विज्ञान केंद्र में एक दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया गया. यह कार्यक्रम रांची सहित देश के 716 केन्द्रों में एक साथ किया गया.

शुक्रवार को आयोजित हुए प्रशिक्षण कार्यकम दो हिस्से में था. पहला हिस्सा ऑनलाइन प्रशिक्षण का था. जिसमें 47 किसान शामिल हुए. वहीं क्लास रूम कार्यक्रम में 15 किसानों ने हिस्सा लिया.

advt

इसे भी पढ़ें :काबू में आया कोरोना, रिकवरी रेट पहुंचा 96 फीसदी पर

मौके पर वरीय वैज्ञानिक डॉक्टर अजीत कुमार सिंह ने उर्वरकों के संतुलित उपयोग, समेकित पोषक तत्व प्रबंधन, मृदा जांच, मृदा स्वास्थ कार्ड की अनुशंसा पर खेती, जैविक खेती, जीवाणु खाद आदि विषयों पर विस्तृत रूप से प्रकाश डाला. वहीं ओम प्रकाश शर्मा ने ड्रिप सिंचाई एवं तरल खाद के बारे में जानकारी दी.

इफको के देव कुमार ने नैनो यूरिया की तकनीक के बारे में किसानों को बताया. जानकारी देते हुए कहा कि एक बोतल नैनो यूरिया एक बोरे यूरिया की तुलना में ज्यादा प्रभावी है. साथ ही इसकी कीमत भी कम है. अंत में डॉक्टर राजेश कुमार ने कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए सभी को धन्यवाद दिया.

इसे भी पढ़ें :जानें कब आ सकती है कोरोना की तीसरी लहर, क्या कहते हैं 40 एक्सपर्ट्स, बच्चों को ज्यादा खतरा

Nayika

advt

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: