JharkhandLead NewsPalamu

दुखद : वज्रपात से दादा-पोता सहित चार की मौत, परिजनों में मची चीख पुकार

Palamu : अचानक बदले मौसम से पलामू में पिछले कुछ घंटे से बारिश हो रही है और वज्रपात भी हो रहा है. मंगलवार की शाम बारिश के दौरान वज्रपात होने से दादा-पोता सहित चार की मौत हो गयी. इसमें दो मजदूर महिलाएं भी शामिल हैं. एक महिला जख्मी है. उसे इलाज के लिए एमएमसीएच में भर्ती कराया गया है.

इसे भी पढ़ें – BIG NEWS :  अपने आदिवासी ड्राइवर को पीटने के आरोपी SP को मुख्यमंत्री ने हटाया, मामले की जांच IG को सौंपी

लेस्लीगंज में दादा-पोता की मौत

जानकारी के अनुसार नीलांबर पीतांबरपुर (लेस्लीगंज) प्रखंड के हरतुआ पंचायत के अमवा गांव में शाम करीब 6 बजे वज्रपात से दादा कर्मदेव मांझी (उम्र 65वर्ष) एवं उनके पोता राजन कुमार (10वर्ष) की मौत हो गयी. दोनों पास के किराना दुकान से आलू खरीद कर अपने घर लौट रहे थे. इसी बीच बारिश के साथ वज्रपात होने से दोनों की मौके पर मौत हो गयी. आनन-फानन में दोनों को इलाज के लिए एमएमसीएच में लाया गया, जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया. कर्मदेव मांझी के पुत्र और राजन के पिता विरेन्द्र पासवान जिला पुलिस का जवान है. उसकी पोस्टिंग सदर थाना में है.

चैनपुर में दो महिला मजदूर की मौत

जिला मुख्यालय मेदिनीनगर से सटे चैनपुर थाना क्षेत्र के गांगी में वज्रपात से नदी पार कर अपने घर लौट रही दो महिला मजदूर की मौत हो गयी. उनकी पहचान अमरेश चौधरी की पत्नी कुंती देवी और ललन चौधरी की पत्नी राधा देवी के रूप में हुई है. मृत दोनों महिलाओं का घर गांगी गांव में ही है. एक महिला मजदूर मनती देवी जख्मी है. उसका इलाज एमएमसीएच में चल रहा है.

बताया जाता है कि तीनों महिलाएं गांगी गांव में अर्जुन मेहता के घर से मजदूर कर अपने घर लौट रही थीं. घर पहुंचने के क्रम में एक नदी को पार कर रही थीं. इसी बीच बारिश के दौरान वज्रपात हुआ, जिससे दो महिलाओं की मौके पर मौत हो गयी, जबकि एक जख्मी हो गयी. तीनों को इलाज के लिए एमएमसीएच में लाया गया, जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया, जहां कुंती देवी और राधा देवी को मृत घोषित कर दिया गया. घटना के बाद से मृतकों के परिजनों में चीख पुकार मची हुई है.

इसे भी पढ़ें – पलामू : कोरोना को लेकर लोग बने हैं लापरवाह, समय बीत जाने के बाद भी एक लाख लोगों ने नहीं लिया सेकंड डोज का टीका

Related Articles

Back to top button