न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

शहर में यातायात व्यवस्था अस्त-व्यस्त, बस स्टॉप पर नहीं रुकती हैं सिटी बसें

215

Ranchi : झारखंड की राजधानी रांची में यातायात व्यवस्था पूरी तरह अस्त-व्यस्त हो चुकी है. सिटी बसों के जहां-तहां ठहराव से अक्‍सर सड़कें जाम देखने को मिल जाती है. पूरे शहर में जितने भी बस पड़ाव बने हैं, उसका इस्‍तेमाल ना के बराबर होता है. रांची को स्मार्ट सिटी बनाने के लिए राजधानी में करोड़ों रुपए की लागत से कई बस शेल्टर और स्टॉपेज प्वाइंट्स तो बना दिए गए, लेकिन ना तो यहां सिटी बसें रूकती है और ना ही यात्री इन पड़ाव पर बसों का इंतजार करते हैं. बस चालक की मनमानी की वजह से यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है.

इसे भी पढ़ें- वन विभाग को नहीं मिला एके 47 और रायफल, धरा का धरा रह गया प्रस्ताव

ट्रैफिक की वजह से शहरवासी परेशान

सिटी बसों के जहां-तहां खड़े होने के कारण ट्रैफिक व्यवस्था बिगड़ गई है. इससे शहरवासी भी परेशान हैं. नगर निगम ने इस मामले में गंभीरता दिखाते हुए शहर के मुख्य चौक-चौराहों पर बस स्टॉपेज प्वाइंट तो बना दिया है, लेकिन इसका इस्तेमाल नहीं हो रहा है. कमाई के चक्कर में ऑटो चालकों की तरह सिटी बस चालक भी अपने मन-मर्जी से बस कहीं भी खड़ी कर देते हैं. शहर भर में बने बस पड़ाव का सही से इस्तेमाल नहीं किया जा रहा है. बस चालक सुरेन्द्र गुप्ता ने अपनी सफाई देते हुए कहा कि रास्ते में फैली गंदगी और ऑटो चालकों की मनमानी के कारण हमलोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है. जिसकी वजह से बस स्टॉपेज पर बस नहीं रोक पाते हैं. गौरतलब है कि राजधानी में बनाए गए बस पड़ाव में यात्रियों के लिए बैठने का स्‍थान भी बना हुआ है, लेकिन इन बस पड़ाव में या तो दुकानें खोल दी गयी हैं या फिर उनकी हालत ठीक नहीं है. ऐसे में यात्री पड़ाव में रूकते ही नहीं हैं. अपनी सहूलियत के हिसाब से यात्री बीच रास्ते में ही बस को रोक देते हैं, जिससे जाम लग जाता है.

इसे भी पढ़ें- सालों से अपने ही घर में कैद भाई-बहन को पुलिस ने कराया आजाद, किरायेदार डॉक्टर पर आरोप

बस पड़ाव का यात्रियों को नहीं मिल रहा फायदा

सिटी बस सर्विस को बेहतर बनाने के लिए नगर निगम ने कई योजनाएं चलाई है, लेकिन यात्रियों को उसका फायदा अभी तक नहीं मिल पाया है. पूरे शहर में सिटी बसों के लिए कई नए बस स्टॉपेज बनाए गये, लेकिन एक भी सिटी बस स्टॉपेज पर नहीं रुकती है. नगर निगम ने लाखों रुपए खर्च कर बस पड़ाव का निर्माण करवाया, लेकिन फिर भी इसका इस्‍तेमाल नहीं किया जा रहा है.

इसे भी पढ़ें- विकास के मानकों में पीछे छूट रहा सीएम का विभाग, सड़क, बिजली, खान, वन राष्ट्रीय मानक से भी पीछे

इसे भी पढ़ें- अटल बिहारी वाजपेयी की हालत बेहद नाजुक,  फुल लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर पूर्व प्रधानमंत्री

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: