JharkhandLead NewsRanchi

रांची में सालभर से नहीं है ट्रैफिक एसपी, सांसद संजय सेठ ने CM हेमंत से की पहल करने की अपील

Ranchi: रांची में ट्रैफिक एसपी का पद 1 साल से रिक्त पड़ा है. इस वजह से ट्रैफिक से संबंधित कई काम बाधित हो रहे हैं. इस मामले को लेकर सांसद संजय सेठ ने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को एक पत्र लिखा है. कहा है कि राजधानी रांची में आबादी का दबाव बढ़ता जा रहा है. वाहनों की बढ़ती संख्या के कारण यातायात व्यवस्था भी चरमराई हुई है. दुर्भाग्य है कि बीते 1 वर्ष से राजधानी में कोई ट्रैफिक एसपी नहीं है. इसके कारण यातायात की व्यवस्था और भी बेपटरी होती दिख रही है. एक तरफ सरकार रांची को स्मार्ट सिटी बनाने और यहां के ट्रैफिक व्यवस्था को अत्याधुनिक करने की दिशा में कदम बढ़ा रही है तो दूसरी तरफ यहां ट्रैफिक एसपी का ही नहीं होना बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है. आए दिन एंबुलेंस, स्कूल बस जैसे वाहन भी कई बार जाम में फंसे दिखते हैं. ट्रैफिक एसपी नहीं होने के कारण रांची का ट्रैफिक ही अनियंत्रित हो चुका है. अविलंब राजधानी में ट्रैफिक एसपी का पदस्थापन किया जाए. इसके साथ ही उन्होंने राजधानी रांची सहित जमशेदपुर धनबाद और बोकारो में पुलिस कमिश्नर का पद भी सृजित करने का आग्रह किया है.

पुलिस कमिश्नर का पद सृजन समय की मांग

सांसद ने अपने पत्र में कहा है कि रांची के अलावे जमशेदपुर, धनबाद और बोकारो तीन अन्य प्रमुख शहर हैं जो बड़ी आबादी वाले और बड़े औद्योगिक क्षेत्र वाले शहर हैं. राजधानी सहित इन तीनों शहरों में बढ़ती आबादी और अन्य विभिन्न परिस्थितियों को देखते हुए पुलिस कमिश्नर का पद सृजित किया जाना अब समय की जरूरत बन चुका है. इन शहरों के लिए पुलिस कमिश्नर के पद का सृजन कर, उन्हें पदस्थापित किया जाए ताकि इन चारों शहरों में कानून व्यवस्था और बेहतर तरीके से संचालित हो सके. आम लोगों को पर्याप्त सुरक्षा मिल सके. अधिकारियों पुलिसकर्मियों के बीच बेहतर समन्वय हो सके. सांसद ने दोनों ही मामलों में विश्वास जताया है कि राज्यहित में मुख्यमंत्री इस दिशा में बहुत जल्द सकारात्मक कदम उठाएंगे.

इसे भी पढ़ेंगे: NHRC ने की 53 मामलों की सुनवाई, जेल में बंद कैदियों की भी ली खबर

Sanjeevani

Related Articles

Back to top button