JharkhandRanchi

कच्चे माल की कीमत बढ़ने से व्यापारी परेशान, चेंबर ने जतायी चिंता

केंद्रीय उद्योग मंत्री को चेंबर ने लिखा पत्र

Ranchi : पिछले चार महीने में कच्चे माल की कीमतों में हुई वृद्धि से व्यापारी परेशान हैं. चेंबर में इन समस्याओं को लेकर शनिवार को बैठक की गयी. व्यापारियों ने इस दौरान कहा कि कच्चे माल की कीमतों में असामान्य और तेज वृद्धि के कारण एमएसएमई को संकट का सामना करना पड़ रहा है.

एमएसएमई के उपयोग में आनेवाले अधिकांश कच्चे माल जैसे ईस्पात, प्लास्टिक कच्चा माल, तांबा, स्टेनलेस स्टील, प्राकृतिक रबर में पिछले चार महीनों में 50 से 150 प्रतिशत वृद्धि हुई है.

बैठक के बाद चेंबर की ओर से केंद्रीय वाणिज्य व उद्योग मंत्री से पत्राचार कर यह आग्रह किया गया कि सरकार कच्चे माल की कीमत में इस तरह की वृद्धि के वास्तविक कारणों का पता लगाये और जांच शुरू करे.

इसे भी पढ़ें :जयपाल सिंह मुंडा की जयंती 3 जनवरी को, झारखंड आंदोलनकारी दिवस के रूप में मनाया जायेगा

कच्चे माल के कीमतों ने बढ़ायी चुनौती

चेंबर अध्यक्ष प्रवीण जैन छाबड़ा ने कहा कि लॉकडाउन हटने के बाद उद्यमियों के बीच बेहतर कारोबार की उम्मीद जगी थी लेकिन कच्चे माल की कीमतों में बढ़ोतरी ने दूसरी ही चुनौती खड़ी कर दी है. जिससे आर्थिक बोझ तले दबी सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम इकाइयों के समक्ष मुश्किलें खड़ी हो गयी हैं.

उन्होंने कहा कि कच्चा माल आयात नहीं होने और घरेलू बाजार में भी कच्चे माल का भाव तेजी से बढ़ने का प्रभाव राजस्व व रोजगार पर पड़ने की संभावना है. केंद्रीय उद्योग मंत्री से आग्रह किया कि देश में कच्चे माल की आपूर्ति को आसान बनाने और मूल्य वृद्धि की जांच की जाये. इसके लिए आवश्यक प्रतिबंध लगाये जायें.

इसे भी पढ़ें : लोग क्या कहते हैं यह मत सोचो, अपने दिल की सुनो और करो: जिशान कादरी

जागरुकता के आभाव मे एयर कार्गो का इस्तेमाल नहीं

चेंबर की ओर से एक अन्य बैठक शनिवार को की गयी. जिसमें एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया के प्रबंधक राजकुमार प्रसाद शामिल हुए. इस दौरान एयर कार्गो की सुविधाओं पर व्यवसायियों विशेष कर कृषकों को जागरूक करने पर चर्चा की गयी.

प्रबंधक राजकुमार प्रसाद ने कहा कि झारखंड की सब्जियों, बागवानी उत्पादों, रेडीमेड गारमेंट, डेयरी प्रोडक्ट, लाह, मोटर पार्ट्स सेक्टर की वस्तुएं देश-विदेश में कार्गो से भेजी जाती हैं. लेकिन जागरुकता के अभाव में व्यापारी इस सुविधा का अधिकाधिक लाभ नहीं ले पा रहे हैं.

इस दौरान आग्रह किया कि झारखंड में इन सभी सेक्टर्स का व्यापार बढ़ाने, विशेष कर किसानों को उनकी उपज का उचित मूल्य मिल सके, इसके लिए ऐसे व्यवसायियों के साथ उन्होंने जागरूकता कार्यशाला के आयोजन का आग्रह किया. चेंबर की ओर से जल्द कार्यक्रम आयोजित करने का आश्वासन दिया गया.

इसे भी पढ़ें : News Wing Impact : सीएम के निर्देश पर मरांग गोमके जयपाल सिंह मुंडा की प्रतिमा की हुई मरम्मत

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: