न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

निगम के कड़े रवैये से हंगामेदार होगी टाउन वेडिंग की प्रस्तावित बैठक

अटल वेंडर मार्केट में बने दुकानों के आवंटन में लगा है धंधाली का आरोप

32
  • नगर आयुक्त के संबंधी और सिटी मिशन मैनेजर पर लगा है आरोप
  • 2 अप्रैल को होनी है प्रस्तावित बैठक
  • टाउन वेंडिग कमिटी के सदस्यों ने कहा, जांच नहीं होने पर दे देंगे इस्तीफा    

Ranchi :  जयपाल सिंह स्टेडियम में बने अटल वेंडर मार्केट में दुकान आवंटन को लेकर धांधली के जो आरोप लगे है, उसके निपटारे के लिए 2 अप्रैल को निगम सभागार में एक बैठक बुलायी गयी है. उस बैठक में इन आरोप पर व्यापक विचार-विमर्श होगा.

आरोप लगने वाले टाउन वेडिंग कमेटी के सदस्यों ने कहा है कि निगम के आला अधिकारियों ने मार्केट में बने दुकानों के आवंटन में जो भ्रष्टाचार किया है, उसके खिलाफ वे अंतिम समय तक लडेंगे. बैठक में वे जांच की मांग को लेकर जमकर विरोध भी करेंगे.

hosp3

अगर फिर भी निगम के अधिकारी उनकी बातों को नहीं मान उचित जांच का आदेश नहीं देते है, तो वेडिंग कमेटी से इस्तीफा देने में भी वे पीछे नहीं हटेंगे. दूसरी ओरी मार्केट का काम देख रहे नगर आयुक्त के संबधी और सिटी मिशन मैनेजर विकास कुमार ने कहा है कि बैठक में केवल जायज मुद्दों पर ही चर्चा होगी.

इसे भी पढ़ें लोस चुनाव को लेकर वाहन चेकिंग अभियान में पुलिस को मिली सफलता, हथियार के साथ बिहार के दो अपराधी…

दुकान आवंटन में धंधाली का लगा है आरोप

मालूम हो कि पिछले कुछ दिनों से अटल वेंडर मार्केट में बने दुकान आवंटन को लेकर जमकर विरोध हो रहा है. गत 7 मार्च को लॉटरी के जरिये करीब 417 दुकानदारों को दुकानें आवंटित की गयी थी. हालांकि उस समय सभी दुकानदारों ने काफी खुशी जतायी थी.

लेकिन जब लॉटरी का फाइनल लिस्ट सामने आया, तो उसमें ऐसे दुकानदारों का भी नाम देखा गया, जिन्होंने कभी फुटपाथ में दुकान ही नहीं लगायी है. इसी बात को लेकर टाउन वेडिंग कमेटी के दो सदस्यों मो. अफसर और नागेंद्र पंडित ने आवंटन में धांधली का आरोप निगम के अधिकारियों पर लगाया है. सदस्यों ने इसके लिए विकास कुमार को पूरे साजिशकर्ता बताया है.

इसे भी पढ़ें पलामू : जमाने के साथ बहुत कुछ बदला, 1970 के दशक में जनप्रतिनिधि धनबल से नहीं, जमीनी पकड़ से जीतते थे…

पिछले दरवाजे की गयी है दुकानें आवंटित

सदस्य नागेंद्र पंडित ने न्यूज विंग को बताया कि जिस तरह से दुकान आवंटन में धांघली हुई है. उसका विरोध जरूर किया जायेगा. इसमें कोई किंतु-परंतु नहीं है.

आवंटन में जमकर भ्रष्टाचार हुआ है. फाइनल लिस्ट निगम ने जारी किया है, उसमें 20 से 25 नाम ऐसा है, जिन्होंने फुटपाथ में दुकान लगाने से कोई संबंध ही नहीं है. यहां तक कि टाउन वेडिंग कमेटी के सदस्य भी उन्हें नहीं पहचानते हैं. लेकिन निगम के अधिकारी इस मुददे पर विचार करने की जगह कह रहे है कि जिन्हें मन मुताबिक दुकानें नहीं मिली, वे ही इसका विरोध कर रहे है.

एक अन्य सदस्य मो. अफसर ने कहा कि लॉटरी में साजिश तरीके से वैसे दुकानदारों को दुकानें आवंटित की गयी, जिसे पहले ही रिजेक्ट किया गया था. बाद में निगम के पिछले दरवाजे से उनकी इंट्री की गयी. सदस्यों का कहना है कि बैठक में इस पर सही विचार नहीं हुआ, तो वे कमेटी से इस्तीफा देने में भी पीछे नहीं हटेंगे.

इसे भी पढ़ें कंफ्यूजन खत्म, एक अप्रैल से राज्य में प्राइवेट प्लेयर्स बेचेंगे शराब

जायज बातों पर ही होगी चर्चा : विकास कुमार

अपने उपर लगे आरोपों का खंडन करते हुए सिटी मिशन मैनेजर विकास कुमार ने कहा कि बैठक में इन सदस्यों को अपनी बात रखने का मौका मिलेगा.

वेंडर मार्केट को लेकर मीडिया में जितनी भी खबरें हाल के दिनों में छपी है, वह हवा में बात करने जैसी है. बैठक में जायज बातों पर ही चर्चा होगी. इसके बावजूद भी अगर किसी को आपत्ति है, तो वे हाईकोर्ट या सुप्रीम कोर्ट जा सकते हैं.

इसे भी पढ़ें मौत की घाटी बन चुकी है चुटूपालू घाटी, 3 माह में 10 लोगों की हो चुकी है मौत

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: