न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

अब बेतला नेशनल पार्क में हाथी की सवारी नहीं कर सकेंगे पर्यटक

68

Medininagar: झारखंड की प्राकृतिक धरोहर बेतला नेशनल पार्क जानेवाले पर्यटकों के लिए निराशा भरी खबर है. इस नेशनल पार्क का मुख्य आकर्षण हाथी की सवारी अब नहीं हो सकेगी. सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद पर्यटक अब हाथी की सवारी नहीं कर सकेंगे औऱ इसे तत्काल प्रभाव से लागू कर दिया गया है. पीटीआर के उपनिदेशक डॉ अनिल मिश्रा के अनुसार सुप्रीम कोर्ट का आदेश मिलते ही टाइगर रिजर्व में हाथी की निजी सवारी जो वर्षों से चली आ रही थी, उस पर बैन लगा दिया गया है. इस कारण अब पर्यटक हाथी की सवारी नहीं कर सकते हैं. उन्होंने बताया कि पर्यटक पहले हाथी की सवारी कर पार्क में जाकर जंगल का लुफ्त उठाते थे. यह पर्यटकों के लिए मुख्य आकर्षण का केंद्र था.

की जा रही है वैकल्पिक व्यवस्था

अनिल मिश्रा ने बताया कि जल्द ही इसकी वैकल्पिक व्यवस्था की जा रही  है. लोग अब हाथी की सवारी भले ना कर सकें लेकिन हाथियों के झुंड को देख कर आनंद उठा सकते हैं. इसके लिए पलामू किला और पुराना पलामू किला के बीच 70 हेक्टेयर भूखंड पर घास और तालाब के साथ एक नया हाथी का पार्क बनाया जाएगा. जिसमें काल भैरव, मुर्गेश, सीता, जूही और राखी हाथियों को रखा जाएगा. दर्शक दूर से ही इनका दीदार कर आनंद उठा सकेंगे.

छुट्टियों में लगता है पर्यटकों का जमावड़ा

झारखंड के मुख्य पर्यटन स्थलों में एक बेतला नेशनल पार्क में सैलानियों का जमावड़ा लगता है. शहर की भाग-दौड़ भरी जिंदगी से दूर दो पल सुकून के पाने को लोग यहां आते हैं. प्रकृति की गोद में बसे इस पार्क में लोग जंगली जानवरों को देख कर एक खास अनुभूति से भर जाते हैं. हाथियों की सवारी पर रोक लग जाने के बाद इसकी कमी खलेगी.

इसे भी पढ़ें – चतरा : माओवादियों ने वनकर्मियों को बंधक बनाया, इलाके में नहीं घुसने की चेतावनी देकर छोड़ा

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like

you're currently offline

%d bloggers like this: