JharkhandRanchi

टूलकिट मामलाः भाजपा का दावा- झारखंड से भी पूरी तरह आउट होगी कांग्रेस

  • ‘घोटालेबाज पार्टी का अब सामने आया पॉलिटिकल स्कैम’
  • ‘कोरोना में जान गंवाने वाले पत्रकारों के परिजनों को मिले सरकारी नौकरी’

Ranchi: प्रदेश भाजपा ने टूलकिट मामले में कांग्रेस पर हमला बोला है. प्रदेश कांग्रेस की ओर से बुधवार को कोतवाली थाना में भाजपा के केंद्रीय अध्यक्ष और अन्य नेताओं के खिलाफ एफआईआर दर्ज करायी गयी थी. प्रदेश अध्यक्ष और सांसद दीपक प्रकाश ने इसे प़ॉलिटिकल ड्रामा बताया.

गुरुवार को दावा किया कि आगामी समय में झारखंड से भी कांग्रेस का पूरी तरह सफाया होना तय है. पार्टी कार्यालय में प्रेस कॉन्फ्रेंस में उन्होंने कहा कि 2जी, कोयला घोटाला, पनडुब्बी घोटाला, कॉमनवेल्थ घोटालों और अन्य स्कैम के कारण पहले ही लोगों ने उसे जगह जगह ठुकरा दिया है. पश्चिम बंगाल चुनाव में कोई नाम नहीं लेने वाला बचा.

केरल में राहुल गांधी के प्रचार के बावजूद पहले की अपेक्षा सीट आधी हो गयी. अब टूलकिट के रूप में पॉलिटिकल स्कैम सामने आने के बाद उसके नेताओं का असल चेहरा सामने आ रहा है. भविष्य में उसके लिये राह औऱ कठिन होने वाली है. झाऱखंड से भी इसकी विदाई तय है.

इसे भी पढ़ें : नागरिक सुरक्षा मद से कोविड-19 महामारी से मृतकों का होगा अंतिम संस्कार : उपायुक्त

advt

अराजकता की ओऱ धकेलने में लगी पार्टी

दीपक प्रकाश ने कहा कि टूलकिट प्रकरण के जरिये कांग्रेस पार्टी ने देश को अराजकता की ओर धकेलने की कोशिश की है. देश और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बढ़ती देश की प्रतिष्ठा तथा मोदी सरकार के व्यक्तित्व से वह बेचैन है.

कोरोना की दूसरी लहर के बीच भी मोदी एक नायक के तौर पर उभरे हैं. ऑक्सीजन की कमी दूर की गयी. अभी हर दिन 9446 टन ऑक्सीजन प्रतिदिन देश में मिल रहा. पहले 35 लाख रेमडेसिविर उपलब्ध होते थे. अब यह एक करोड़ तक पहुंच चुका है.

अमेरिका में 115 दिनों में 17 करोड़ लोगों तक वैकसीनेशन पहुंचा. देश में यह 114 दिनों में हो गया. ऐसे में केंद्र की बढ़ती लोकप्रियता के बीच टूलकिट के जरिये कांग्रेस अब देश को बदनाम करने की साजिश में लग गयी है. कोरोना वायरस चीन के वुहान से निकला. पर

राहुल गांधी इसे इंडियन कहते हैं. डब्लूएचओ ने इसे सिरे से खारिज भी कर दिया है कि कोरोना इंडिया का वायरस नहीं.

पीएम मोदी की छवि को कमजोर करने का षडयंत्र रचा गया है. हरिद्वार में लगे कुंभ के जरिये पूरे देश में कोरोना फैलाने की बात सोच समझकर गलत मंशा से फैलाया गया. इसे सुपर स्प्रेडर बताया गया जबकि ईद को इसमें शामिल नहीं किया गया.

अंतिम संस्कार और शव के चित्रों को ज्यादा से ज्यादा दिखाने की प्लानिंग बनी. देश की छवि खराब करने वाले इंटरनेशनल पत्रकारों से संबंध बढाने की भी रणनीति बनी. लोगों को पीएम केयर फंड में डोनेट करने से रोकने की योजना तैयार की गयी. इस टूलकिट को तैयार करने में कांग्रेस की सौम्या वर्मा ने ही अहम भूमिका निभायी.

इसे भी पढ़ें : जिलाधिकारियों से बोले पीएम मोदी- गांवों पर ज्यादा ध्यान देने की जरूरत

पत्रकार के परिजनों को सरकारी नौकरी

भाजपा ने सरकार से मांग करते हुए कहा कि इस महामारी में पत्रकारों ने फ्रंट लाइन वारियर के तौर पर काम किया. कई पत्रकारों ने कोरोना वारियर के रूप में आहूति दी. उनके प्रति सरकार जवाबदेही दिखाये. मृतकों के पारिवारिक सदस्य को आर्थिक सहायता के अलावा सरकारी नौकरी भी दे.

पार्टी के मुताबिक उसकी ओऱ से शुरू किये गये कोविड हेल्पलाइन के जरिये 21 हजार 315 लोगों ने संपर्क किया है. प्राइवेट और सरकारी अस्पतालों में जरूरतमंद 1230 लोगों को बेड अरेंज करके दिया गया.

चोरी और सीनाजोरी : कांग्रेस

कांग्रेस के प्रवक्ता आलोक कुमार दूबे ने दीपक प्रकाश और भाजपा पर चोरी और सीनाजोरी करने का आरोप लगाया. कहा कि कोरोना संक्रमण काल में केंद्र सरकार की विफलता तथा इस संकट के समय भी झारखंड की अनदेखी के खिलाफ आवाज बुलंद करने में भाजपा उदासीन है.

अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के अनुसंधान विभाग का जाली लेटरहेड बनाकर फर्जीवाड़ा करने वाले भाजपा नेताओं के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज होने के बाद प्रदेश भाजपा पूरी तरह से बौखला गयी है.

अपने नेताओं के गुडबुक में बने रहने के लिए वे अनर्गल और बेबुनियाद बातें कह रहे हैं. आत्मनिर्भर भारत की बात करने वाले भाजपा नेताओं ने वाराणसी को क्योटो शहर बनाने का वायदा किया था, पर सात वर्षों के कार्यकाल में वाराणसी क्योटो शहर तो नहीं बन सका, परंतु आज देश का हर शहर बनारस जरूर बन गया है.

आज हर शहर की यह हकीकत है कि श्मशान घाट की आंच ठंडी नहीं हो रही है कि अंतिम संस्कार के लिए दूसरा पार्थिव शरीर पहुंच जा रहा है.

रोते-बिखलते परिजन और केंद्र सरकार की कुव्यवस्था से तड़पते लोग नरेंद्र मोदी से सवाल पूछ रहे है कि कहां गये अच्छे दिन लाने के वायदे तो भाजपा इन सवालों का जवाब देने बजाय बड़ी ही निर्ल्लजता के साथ कांग्रेस पार्टी और वरिष्ठ नेता राहुल गांधी पर सवाल उठा रही है. भाजपा अब देश की राजनीति में पूरी तरह अप्रसांगिक हो रही है और आने वाले समय में झारखंड से भी भाजपा का पूरी तरह से सफाया हो जाएगा.

इसे भी पढ़ें :ई-पास व्यवस्था खत्म करने की याचिका हाइकोर्ट ने की खारिज, कहा- यह जरूरी है 

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: