Lead NewsNationalSports

Tokyo Olympics: चोट के बाद भी सुपर हेवीवेट बॉक्सर सतीश विजयी, जीत सकते हैं मेडल

जमैका के रिकार्डो ब्राउन को 4-1 से हराकर क्वार्टर फाइनल में पहुंचे

New Delhi : ओलंपिक में हिस्सा लेने वाले भारत के पहले सुपर हैवीवेट (+91 किग्रा) मुक्केबाज सतीश कुमार ने गुरुवार को यहां अपने पहले मुकाबले में जमैका के रिकार्डो ब्राउन को हराकर अपने पहले ओलंपिक में क्वार्टर फाइनल में प्रवेश किया. 32 वर्षीय सतीश ने 4-1 से जीत हासिल की, जो विभाजित फैसले के बावजूद उनके लिए एक आरामदायक जीत थी.

दो बार के एशियाई चैंपियनशिप में कांस्य-विजेता सतीश कई बार के राष्ट्रीय चैंपियन रहे हैं. सतीश को पूरे मुकाबले में ब्राउन के खराब फुटवर्क से मदद मिली, हालांकि उन्हें दो कट लगे – एक उनके माथे पर और दूसरा उनकी ठुड्डी पर.

इसे भी पढ़ें : अनलॉक झारखंडः आपदा प्रबंधन की बैठक आज, कई और पाबंदियों में मिल सकती है छूट

advt

अगला मुकाबला विश्व और एशियाई चैंपियन जलोलोव से

भारतीय मुक्केबाजी सतीश के उच्च प्रदर्शन निदेशक सैंटियागो नीवा ने पीटीआई से कहा, “मुकाबले के दौरान उनके सिर के तीन हिस्से कट गए थे. लेकिन यह सतीश की हिम्मत और बेहतरीन प्रदर्शन था कि वह मुश्किल में भी जीतकर लौटे.’ सतीश का अगला मुकाबला उज्बेकिस्तान के बखोदिर जलोलोव से होगा, जो मौजूदा विश्व और एशियाई चैंपियन हैं. जलोलोव ने अपने अंतिम-16 मुकाबले में अजरबैजान के मोहम्मद अब्दुल्लायेव को 5-0 से हराया.

इसे भी पढ़ें : Breaking: जज उत्तम आनंद को धक्का मारने वाला टेंपो गिरिडीह से बरामद, चालक फरार

अब क्वार्टरफाइनल पर नजर

जलोलोव से सतीश के मैच को लेकर नीवा ने कहा, “वह अपराजेय नहीं है. हालांकि सतीश उसके खिलाफ कभी नहीं जीता, लेकिन पिछली बार जब वे इंडिया ओपन में लड़े थे, तो मुकाबला काफी टक्कर का था.’ खैर पुरानी बातों को भुलाकर सतीश एक नई शुरुआत करेंगे. अब उनकी नजर क्वार्टरफाइनल की जीत पर है. यहां से मिली जीत उन्हें सेमीफाइनल में पहुंचा देगी जिसके बाद उनके और मेडल के बीच की दूरी बहुत कम हो जाएगी.

इसे भी पढ़ें : अवैध बालू खनन पर नीतीश सरकार सख्त, 18 अफसरों को फिर किया सस्पेंड

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: