Lead NewsNationalSports

Tokyo Olympics 2020: चीन के मा लांग से कड़े संघर्ष में हारे शरत कमल, TT में उम्मीदें टूटी

पांच सेट में 7-11, 11-8, 11-13, 4-11, 4-11 से हार का सामना करना पड़ा

New Delhi : भारत के सबसे अनुभवी और स्टार टेबल टेनिस खिलाड़ी अचंता शरत कमल आज यहां चीन के मौजूदा ओलंपिक और विश्व चैंपियन मा लांग से तीसरे राउंड का अपना मैच 1-4 से हार गए. इसके साथ ही टोक्यो ओलंपिक की टेबल टेनिस प्रतियोगिता में भारतीय चुनौती भी समाप्त हो गई है.

अपना चौथा ओलंपिक खेल रहे 39 वर्षीय शरत ने तीसरे दौर के इस मैच में अपने मजबूत प्रतिद्वंद्वी को पहले तीन गेम में कड़ी चुनौती दी लेकिन आखिर में उन्हें 46 मिनट तक चले मैच में 7-11, 11-8, 11-13, 4-11, 4-11 से हार का सामना करना पड़ा.

इसे भी पढ़ें :असम के 6 जवानों को मारने के बाद जश्न मनाते मिजोरम पुलिस का VIDEO CM हिमंत ने किया शेयर

ram janam hospital
Catalyst IAS

शरत और मनिका पहले भारतीय खिलाड़ी जो तीसरे दौर में पहुंचे

The Royal’s
Pushpanjali
Pitambara
Sanjeevani

शरत और मनिका बत्रा दोनों पहले भारतीय खिलाड़ी हैं जिन्होंने तीसरे दौर में प्रवेश किया था. जी साथियान और सुतिर्था मुखर्जी हालांकि दूसरे दौर से आगे नहीं बढ़ पाए. मिश्रित युगल में शरत और मनिका को पदक का दावेदार माना जा रहा था लेकिन उसमें और पुरुष एकल में यदि ड्रा आसान होता तो परिणाम अलग हो सकते थे.

शरत ने बताया अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन

चीन के दिग्गज खिलाड़ी के खिलाफ राउंड आफ 32 मुकाबले में प्रदर्शन से शरत को यकीन हो गया है कि वह पेरिस ओलंपिक में भी हिस्सा ले पाएंगे जो तीन साल दूर हैं. शरत ने लांग के खिलाफ मैच के बाद कहा, “यह सर्वश्रेष्ठ मुकाबला था और मैं जितना भी खेला हूं उनमें ये शायद मेरा सर्वश्रेष्ठ मैच और सर्वश्रेष्ठ टूर्नामेंट था.”

इसे भी पढ़ें :विधायकों की पिटाई मामले में विधानसभा में फिर हंगामा, सरकार ने कहा- दोषी के खिलाफ होगी कार्रवाई

क्या कहा चीनी खिलाड़ी ने

चीनी खिलाड़ी ने भी स्वीकार किया कि शरत ने उनके लिये मुकाबला कड़ा बना दिया था. लांग ने कहा, “यह कड़ा मैच था. ओलंपिक में हर मैच कड़ा होता है. यह मायने नहीं रखता कि आप किस प्रतिद्वंद्वी या देश के खिलाफ खेल रहे हो. मैंने ऐसी चुनौतियों से पार पाने के लिये तैयारियां की थी. तीसरा गेम महत्वपूर्ण था, इसमें जीत के बाद आखिरी दो गेम बेहतर रहे.
पिछले मैच में पुर्तगाल के टियागो अपोलोनिया के खिलाफ शानदार वापसी करने वाले शरत ने लांग के खिलाफ भी वापसी का अपना जज्बा दिखाया. पहला गेम गंवाने के बाद उन्होंने दूसरा गेम अपने नाम किया और फिर तीसरे गेम में भी तीन गेम प्वाइंट बचाये लेकिन आखिरी दो गेम में मुकाबला एकतरफा ही रहा.

शरत ने पहले गेम के शुरू में लांग को अच्छी चुनौती दी. एक बार वह वापसी करके स्कोर 5-5 की बराबरी पर भी ले आये थे लेकिन लांग ने लगातार चार अंक बनाये और फिर दूसरे गेम प्वाइंट पर पहला गेम जीतने में सफल रहे. शरत ने दूसरे गेम में अपने फोरहैंड रिटर्न और नियंत्रित खेल से ओलंपिक खेलों में अब तक तीन स्वर्ण पदक जीतने वाले लांग को भी हैरान कर दिया.भारतीय खिलाड़ी ने शुरू में पिछड़ने के बाद वापसी की और फिर 8-4 से बढ़त बना दी. लांग ने इसके बाद लगातार चार अंक बनाये लेकिन शरत ने फिर से वापसी की और बेहतरीन फोरहैंड रिटर्न से यह गेम अपने नाम किया.

इसे भी पढ़ें :काम पूरा होने से पहले टूटने लगा कंसजोर जलाशय का नहर, जांच के लिये हाईकोर्ट से गुहार

शरत ने अंत तक किया संघर्ष

लांग तीसरे गेम में 6-4 से आगे थे लेकिन शरत ने जल्द ही बढ़त हासिल कर दी. लांग ने 8-8 के स्कोर पर लगातार दो अंक बनाये जिससे उनके पास दो गेम प्वाइंट थे लेकिन शरत ने अपना जज्बा बनाये रखा. उन्होंने कुल तीन गेम प्वाइंट बचाये. चीनी खिलाड़ी ने ‘टाइम आउट’ लिया और चौथे गेम प्वाइंट पर मैच में बढ़त बना दी. लांग ने चौथे गेम में 6-0 की मजबूत बढ़त से शुरुआत की और शरत के प्रयासों के बावजूद यह गेम सात मिनट में अपने नाम करने में सफल रहे. पांचवें गेम में भी यही कहानी दोहरायी गयी. भारतीय खिलाड़ी ने दबाव में गलतियां की जिससे लांग ने 9-3 से बढ़त बना ली. लांग के करारे स्मैश का शरत के पास कोई जवाब नहीं था.

इसे भी पढ़ें : रांची सदर अस्पताल में इमरजेंसी तक पहुंचने के लिए करना पड़ रहा घंटों इंतजार

Related Articles

Back to top button