NationalSportsTOP SLIDER

Tokyo Olympics : भारत की झोली में एक और पदक, कुश्ती में रवि दहिया को मिला सिल्वर मेडल

New Delhi : भारतीय रेसलर रवि कुमार दहिया (Ravi Kumar Dahiya) को टोक्यो ओलंपिक में ‘रजत पदक’ के साथ संतोष करना पड़ा. आरओसी के जावुर युगुऐव (Zaur Uguev) ने रवि को पुरुषों के 57 किलो वर्ग के फाइनल मुकाबले में 7-4 से मात दी. इसी के साथ भारत ओलंपिक इतिहास में पहली बार कुश्ती में गोल्ड मेडल अपने नाम करने से चूक गया.

सेमीफाइनल मुकाबले में पिछड़ने के बावजूद कजाकिस्तान के नूरइस्लाम सनायेव (Nurislam Sanayev) को हराकर फाइनल में प्रवेश करने के साथ ही रवि ने देश के लिए कम से कम रजत पदक पक्का कर लिया था.

बता दें कि कुश्ती में लंदन ओलंपिक में सुशील कुमार रजत पदक जीत चुके हैं. सुशील कुमार ने 2008 बीजिंग ओलंपिक में ब्रॉन्ज, जबकि 2012 लंदन ओलंपिक में सिल्वर मेडल अपने नाम किया था.

advt

इसे भी पढ़ेंःविदेशी मुद्रा उल्लंघन मामले में ईडी ने Flipkart को नोटिस, 1.35 अरब डॉलर का जुर्माना मांगा

उगयेव दो बार के विश्व चैम्पियन (2018, 2019) रह चुके हैं. जिस साल (2019) में उगयेव ने नूर सुल्तान में विश्व चैम्पियनशिप का सोना जीता था, उसी वर्ष रवि ने इसी वर्ग में कांस्य अपने नाम किया था. वह मौजूदा एशियाई चैंपियन (2020, 2021) और अंडर-23 विश्व चैंपियनशिप (2018) के रज पदक विजेता हैं.

adv

केडी जाधव भारत को कुश्ती में पदक दिलाने वाले पहले पहलवान थे, जिन्होंने 1952 के हेलसिंकी ओलंपिक में कांस्य पदक जीता था. उसके बाद सुशील ने बीजिंग में कांस्य और लंदन में रजत पदक हासिल किया. सुशील ओलंपिक में दो व्यक्तिगत स्पर्धा के पदक जीतने वाले अकेले भारतीय थे, लेकिन बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधू ने टोक्यो में कांस्य जीतकर बराबरी की.

इसे भी पढ़ेंःTokyo Olympics : क्वार्टर फाइनल में हारीं विनेश, जानें किस नियम से मिल सकता है ब्रॉन्ज

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: