न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

नीतीश कुमार जैसे नेताओं के साथ मिलकर केंद्र में बनायेंगे सरकार- गुलाम नबी

कांग्रेस नेता का दावा- केंद्र में मोदी की सरकार की नहीं होगी वापसी, एनडीए भी सत्ता से रहेगी दूर

996

Patna: लोकसभा चुनाव का आखिरी चरण बाकी है. वहीं नतीजों से पहले कांग्रेस के बड़े नेता गुलाम नबी आजाद ने बड़ा दावा किया है. उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार और उनके जैसे नेताओं के साथ मिलकर कांग्रेस केंद्र में सरकार बना सकती हैं.

साथ ही दावा किया कि मोदी सरकार, बीजेपी की वापसी केंद्र में नहीं होने जा रही है. एनडीए भी सरकार बनाने की स्थिति में नहीं होगा.

बुधवार (15 मई, 2019) को एक कार्यक्रम के दौरान उन्होंने कहा कि, चुनावी नतीजे आने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाले एनडीए के कई सहयोगी बीजेपी का साथ छोड़ सकते हैं.

इसे भी पढ़ेंःचुनाव पूर्व एग्जिट पोल पर सख्त आयोग, ट्विटर से एग्जिट पोल संबंधी पोस्ट हटाने को कहा

और अगर बीजेपी को नतीजों में कम सीटें मिलीं, तब एनडीए में शामिल बिहार सीएम नीतीश सरीखे नेताओं की मदद से दिल्ली में गैर-बीजेपी सरकार बन सकती है.

‘मजबूरी में बीजेपी के साथ कुछ दल’

वरिष्ठ कांग्रेसी नेता ने इस दावे के पीछे ये तर्क दिया कि, “एक विचारधारा है…गैर-एनडीए या गैर-बीजेपी विचारधारा, क्योंकि एनडीए में भी कुछ घटक ऐसे हैं, जिनके विचार बीजेपी से नहीं मिलते. लेकिन वे सत्ता की वजह से या फिर और अपनी मजबूरियों से साथ हैं.

इनमें अकाली दल और शायद नीतीश कुमार भी हो सकते हैं. एक और दल भी है, जो बीजेपी की विचारधारा से नहीं है, लेकिन एनडीए में है.” उनका कहना है कि, “मुख्य लड़ाई इस वक्त बीजेपी विचारधारा और गैर-बीजेपी विचारधारा के बीच की है.”

‘केंद्र में मोदी की वापसी नहीं होगी’

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने बुधवार को ये भी दावा किया कि लोकसभा चुनाव के बाद केंद्र में न तो भाजपा और न ही राजग की सरकार बनेगी. चुनाव के बाद नरेन्द्र मोदी दूसरी बार प्रधानमंत्री नहीं बनेंगे. बल्कि केंद्र में गैर राजग, गैर भाजपा सरकार बनेगी.

इसे भी पढ़ेंःपुलवामा में मुठभेड़ः तीन आतंकी ढेर, एक जवान भी शहीद

उन्होंने कहा, ‘‘चुनाव अब आखिरी चरण में हैं और देश भर में चुनाव प्रचार के अपने अनभुव के आधार पर मैं कह सकता हूं कि केंद्र में फिर से न तो भाजपा और न ही राजग की सरकार बनेगी.’’

यहां पत्रकारों से उन्होंने कहा, ‘‘अच्छा होगा अगर लोकसभा चुनाव के नतीजों के बाद सरकार चलाने के लिये कांग्रेस नेता के नाम पर आम सहमति बने. लेकिन ‘‘हम इसे कोई मुद्दा नहीं बनाने जा रहे कि अगर हमें (कांग्रेस को) प्रधानमंत्री पद की उम्मीदवारी की पेशकश नहीं की गयी, तो हम (कांग्रेस) किसी और (नेता) को प्रधानमंत्री नहीं बनने देंगे.’’

‘125 सीटों पर सिमटेगी बीजेपी’

राज्यसभा में विपक्ष के नेता ने कहा कि कांग्रेस का एकमात्र ध्येय केंद्र में राजग को सरकार बनाने से रोकना है और गैर-राजग सरकार बनाना है. उन्होंने दावा किया कि भाजपा 125 सीटों तक सिमट जायेगी हालांकि चुनाव में कांग्रेस कितनी सीटें जीतेगी इस बारे में उन्होंने कुछ भी बताने से इनकार किया.

इसे भी पढ़ेंःपटना : राहुल गांधी का आज रोड शो, शत्रुघ्न सिन्हा और मीसा भारती के लिए करेंगे प्रचार

आजाद ने कहा कि 2014 में सत्ता में आने के बाद भाजपा पूरी तरह बेनकाब हो गयी है. क्योंकि उसने समाज में नफरत फैलाने और बांटने की अपनी विचारधारा का अनुसरण किया है.

उन्होंने कहा कि पूंजीपतियों और उद्योपतियों की पार्टी के तौर पर भाजपा सरकार की नीति और सिद्धांत का खुलासा हो गया है. और समाज के सभी प्रमुख वर्ग किसान, युवा, महिलाएं और मजदूर आज केंद्र सरकार की गलत नीति के चलते निराश हैं.

पीएम मोदी पर तंज

उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी ने युवाओं को पांच साल में 10 करोड़ नौकरी का वादा किया गया था. लेकिन इसके बजाय नोटबंदी और जीएसटी को गलत तरीके से लागू किये जाने के कारण 4.73 करोड़ नौकरियां छिन गयीं.

वहीं विज्ञान संबंधी मुद्दों पर प्रधानमंत्री के बयान को लेकर कटाक्ष करते हुए उन्होंने कहा कि ‘विज्ञान के संबंध में प्रधानमंत्री के बयान को देखने के बाद मैं समझता हूं कि मुझे आत्महत्या कर लेनी चाहिए.’

आजाद ने कोलकाता में मंगलवार को अमित शाह के रोड शो के दौरान भाजपा एवं तृणमूल समर्थकों के बीच झड़प में बंगाल नवजागरण के अहम नेता एवं जाने माने दार्शनिक ईश्वर चंद्र विद्यासागर की आवक्ष प्रतिमा को तोड़े जाने की निंदा की. और कहा कि इसके लिये जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए.

इसे भी पढ़ेंःलोहरदगा : घर में घुसकर नाबालिग के साथ किया दुष्कर्म, दी बर्बाद करने की धमकी

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

hosp22
You might also like
%d bloggers like this: