न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

तोगड़िया की नयी पार्टी 100 लोकसभा सीटों पर लड़ेगी चुनाव, खुद मोदी के खिलाफ बनारस से खड़े हो सकते हैं

1,919

Ahmadabad: विश्व हिंदू परिषद (वीएचपी) के पूर्व नेता प्रवीण तोगड़िया ने शुक्रवार को कहा कि उनकी नवगठित पार्टी देश भर में करीब 100 लोकसभा सीटों पर चुना लड़ेगी, जिनमें गुजरात की 15 सीटें भी शामिल हैं. तोगड़िया ने हाल में हिंदुस्तान निर्माण दल (एचएनडी) पार्टी बनायी है और पार्टी ने अपने 41 उम्मीदवारों की सूची जारी की है. उन्होंने यह भी कहा कि वह उत्तर प्रदेश में वाराणसी, अयोध्या या फिर मथुरा से आगामी चुनाव लड़ सकते हैं.

वाराणसी लोकसभा सीट का प्रतिनिधित्व प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करते हैं और इस बार भी वह इसी सीट से चुनाव लड़ने वाले हैं. तोगड़िया ने कहा कि एचएनडी का मुख्य मुद्दा अयोध्या में राम मंदिर निर्माण कराना, कृषि उत्पाद के लिये बेहतर मूल्य और कृषि पर केंद्रित रोजगार पैदा करना है.

इसे भी पढ़ेंः आखिर क्यों आजसू गिरिडीह सीट पर अबतक नहीं कर पाया उम्मीदवार का ऐलान, ये हैं चार वजहें

पीएम ने देश का विश्वास तोड़ा

गौरतलब है कि प्रवीण तोगडिया ने इससे पूर्व कहा था कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने राम मंदिर मामले में देश के हिन्दुओं का विश्वास तोड़ा है. यही नहीं, इसके साथ ही केंद्र सरकार ने देश के लाखों किसानों और युवाओं के साथ भी विश्वासघात किया है. संवाददाताओं से बातचीत करते हुए तोगडिया ने कहा, ” प्रधानमंत्री जी मंदिर नहीं बना सकते हैं तो फिर उनको इस्तीफा दे देना चाहिये. हमारी आशा थी कि देश में राम, किसानों को फसलों का दाम और युवाओं को काम मिलेगा. लेकिन इस सरकार ने ऐसा कुछ नहीं किया. देश की जनता को न तो राम मिले, न किसानों को उनका दाम मिला और न ही बेरोजगारों को नौकरी मिली.”

इसे भी पढ़ेंः छत्तीसगढ़ : कांग्रेस ने चार लोकसभा सीटों पर की उम्मीदवारों की घोषणा

Related Posts

पी. चिदंबरम के घर पहुंची सीबीआइ-ईडी की टीम, घर पर नहीं मिले पूर्व मंत्री

दिल्ली हाइकोर्ट ने खारिज की है अग्रिम जमानत याचिका

SMILE

संघ प्रमुख मोहन भागवत पर किया कटाक्ष

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत पर कटाक्ष करते हुए उन्होंने कहा कि देश में नई शिक्षा नीति तैयार है. यह आरएसएस के कहने पर हुआ है. आरएसएस सरकार से शिक्षा नीति तो तैयार करवा सकती है लेकिन यही आरएसएस चार वर्षों में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से राम मंदिर कानून नहीं बनवा सकी.

कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के साढ़े चार वर्षो के शासन में 52 हजार किसान आत्महत्या कर चुके हैं. किसानों पर 12 लाख करोड़ का कर्ज है. इसे अब तक दूर क्यों नहीं किया जा सका. उन्होंने कहा केन्द्र में भाजपा की बहुमत की सरकार के  बावजूद वादों को पूरा नहीं करने के लिए भाजपा को देश से माफी मांगनी चाहिए.

इसे भी पढ़ेंः जस्टिस पिनाकी चंद्र घोष बने देश के पहले लोकपाल प्रमुख, राष्ट्रपति ने दिलाई शपथ

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: