न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें
bharat_electronics

आज कांग्रेस का दामन थामेंगे शत्रुघ्न सिन्हा, पटना साहिब से लड़ सकते हैं चुनाव

28 मार्च को ही राहुल गांधी से हुई थी मुलाकात

640

New Delhi: बीजेपी के बागी नेता और सांसद शत्रुघ्न सिन्हा आज कांग्रेस का दामन थामेंगे. और वो पटना साहिब से चुनाव लड़ सकते हैं. ज्ञात हो कि पिछले महीने 28 मार्च को सांसद सिन्हा ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात की थी और शामिल होने को लेकर विस्तृत बात हुई थी.

mi banner add

पिछले दिनों कांग्रेस प्रवक्ता शक्तिसिंह गोहिल ने एक ट्वीट कर बताया था कि बीजेपी सांसद शत्रुघ्न सिन्हा 6 अप्रैल को औपचारिक रूप से कांग्रेस में शामिल होंगे.

पटना साहिब से लड़ सकते हैं चुनाव

उल्लेखनीय है कि शत्रुघ्न सिन्हा पटना साहिब सीट से चुनाव लड़ सकते हैं. वे पहले से ही कहते रहे हैं कि ‘सिचुएशन जो भी हो, लोकेशन वही होगा’. अगर वो पटना साहिब से चुनाव लड़ते हैं तो उनका मुकाबला बीजेपी प्रत्याशी और केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद से होगा.

इसे भी पढ़ेंःबरही विधायक मनोज यादव चतरा से कांग्रेस के उम्मीदवार, शनिवार को करेंगे…

मोदी-शाह के रहे हैं आलोचक

ज्ञात हो कि 2014 में बीजेपी की टिकट से जीत कर आये सांसद सिन्हा सरकार बनने के कुछ समय बाद से ही पीएम मोदी और पार्टी अध्यक्ष अमित शाह के आलोचक रहे हैं.

कई मंचों से उन्होंने बीजेपी में रहते हुए पार्टी के खिलाफ आवाज बुलंद की है. नोटबंदी, जीएसटी जैसे फैसलों का उन्होंने खुलकर विरोध किया है.

बीजेपी ने उम्मीदवारों की घोषणा करते हुए इसबार पटना साहिब से रवि शंकर प्रसाद को मैदान में उतारा है. और शत्रुघ्न सिन्हा का पत्ता साफ कर दिया. उसके बाद से ही सांसद सिन्हा के कांग्रेस में जाने की बात सामने आती रही है.

Related Posts

राज्यसभा में बोले पीएम, मॉब लिंचिंग का दुख, पर पूरे झारखंड को बदनाम करना गलत

सरायकेला की घटना पर जताया दुख, कहा- न्याय हो, इसके लिए कानूनी व्यवस्था है

कांग्रेस सही मायने में राष्ट्रीय पार्टी- शॉटगन

अभिनेता से नेता बने शत्रुघ्न सिन्हा ने 31 मार्च को भाजपा छोड़ने की घोषणा की थी. वहीं कांग्रेस में शामिल होने को लेकर सिन्हा ने कहा था कि उन्होंने कांग्रेस के साथ जाने का फैसला इसलिए किया है क्योंकि यह सही मायने में एक राष्ट्रीय पार्टी है और उनके पारिवारिक मित्र लालू प्रसाद ने भी उन्हें ऐसा ही करने की सलाह दी.

अभिनेता-नेता लंबे समय से मोदी सरकार की आलोचना कर रहे थे. उन्होंने कहा था, भाजपा जिससे मैं लंबे समय से जुड़ा था, उसे छोड़ना मेरे लिये पीड़ादायक था.

लेकिन एलके आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, अरुण शौरी और यशवंत सिन्हा जैसे पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के साथ जिस तरह से बर्ताव किया गया, उससे मैं आहत था.

इसे भी पढ़ेंःजेवीएम को झटका, पूर्व मंत्री सत्यानंद भोक्ता ने थामा लालटेन

उन्होंने भाजपा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पार्टी प्रमुख अमित शाह के नेतृत्व की आलोचना करते हुए कहा कि इससे पहले पार्टी में लोकशाही थी और अब तानाशाही है.

इस दौरान सांसद सिन्हा ने 2019 में रिकॉड तोड़ वोट से जीत हासिल करने का दावा भी किया था. ज्ञात हो कि बिहार में महागठबंधन में पटना साहिब की सीट कांग्रेस के खाते में गई है. और शत्रुघ्न सिन्हा ने पहले ही साफ कर दिया है कि वो इसी सीट से चुनाव लड़ेंगे.

इसे भी पढ़ेंःचतरा : नक्सलियों के खिलाफ कार्रवाई, तीन सिलेंडर व सात पाइप बम बरामद

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

dav_add
You might also like
addionm
%d bloggers like this: