ChaibasaJharkhand

समाज को एकजुट करने के लिए भाषा-संस्कृति को लेकर एक मंच पर आने की जरूरत : कृष्ण चंद्र

चाईबासा के आदिवासी हो समाज कला एवं संस्कृति भवन में धूमधाम से मनी लाको बोदरा की जयंती, साहित्यकार घनश्याम गागराई को 'लाइफ टाइम अचीवमेंट अवार्ड'  

chaibasa : चाईबासा के हरिगुटू स्थित आदिवासी हो समाज कला एवं संस्कृति भवन में रविवार को हो भाषा के महान साहित्यकार एवं हो भाषा की लिपि ‘वारंग चिति’ के खोजकर्ता कोलगुरु लाको बोदरा की 102वीं जयंती धूमधाम के साथ मनायी गयी. आदिवासी हो समाज महासभा, आदिवासी हो समाज युवा महासभा व आदिवासी हो समाज सेवानिवृत्त संगठन के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित जयंती समारोह की शुरुआत अध्यक्ष अर्जुन मुंदुईया ने ओतगुरु लाको बोदरा के चित्र पर माल्यार्पण एवं पुष्पांजलि अर्पित कर की. अपने स्वागत भाषण में उपाध्यक्ष कृष्ण चंद्र बुड़ीउली ने कहा कि समाज को एकजुट बनाने में भाषा, संस्कृति को लेकर एक मंच वपर आने की जरूरत है. इस अवसर पर साहित्यकार घनश्याम गागराई को हो भाषा साहित्य को समृद्ध बनाने के लिये ‘लाइफ टाइम अचीवमेंट एवार्ड’ से सम्मानित किया गया.

इसे भी पढ़ें – पोटका से आदित्यपुर जा रहा 407 ट्रक पलटा, दो दर्जन से ज्यादा मजदूर घायल

advt

घनश्याम गागराई ने ‘हाउ पोडोम, दूरं दुदुगर, परिचय आदिवासी हो समाज, मुंडा मानकी पद्धति, महात्मा पूर्ण चंद्र बिरुवा, गुरु कोल लको बोदरा’ आदि किताबें हो भाषा में लिखकर अतुलनीय योगदान दिया है. उन्होंने कोलगुरु लाको बोदरा की जीवनी और कृतित्व पर प्रकाश डालते हुए कहा कि लिपि, भाषा-संस्कृति और आदिवासी जीवन के पहचान के लिये अत्यंत जरूरी है. हो लिपि को हो भाषा के उच्चारण के अनुरूप लिखी जाता है. इसमें कुल 32 अक्षर शामिल हैं. इस अवसर पर हो भाषा साहित्य के लिए उल्लेखनीय कार्य करने वाले साहित्यकार डोबरो बुड़ीउली, सोनू हेस्सा, सोमा जेराई को भी अंगवस्त्र देकर सम्मानित किया गया. इस दौरान कार्यक्रम का संचालन संयुक्त सचिव बामिया बारी, शिक्षा सचिव जवाहरलाल बंकिरा व संस्कृति सचिव सतीश सामड ने संयुक्त रूप से किया. इस अवसर पर हो कला-संस्कृति से जुड़े कई सांस्कृतिक कार्यक्रम का रंगारंग आयोजन भी हुआ. मौके पर महासचिव यदुनाथ तियू सहित हो समाज के गणमान्य लोग उपस्थित थे.

इसे भी पढ़ें – गुमला में जंगल से इनामी नक्सली राकेश उरांव गिरफ्तार

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: