JharkhandNationalNEWS

डिजिटल प्रमाणपत्र पर पीएम की तस्वीर लगाने पर टीएमसी ने जतायी आपत्ति,आयोग ने विकल्प तलाशने को कहा

New Delhi: केंद्रीय चुनाव आयोग ने तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) की तरफ से केंद्र सरकार पर लगाया गया आचार संहिता के उल्लंघन का आरोप खारिज कर दिया. टीएमसी सांसद डैरेके ओब्रायन ने यह आरोप कोरोना टीकाकरण प्रमाणपत्र पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के फोटो का इस्तेमाल किए जाने को लेकर लगाया था. वहीं, दूसरी ओर आयोग ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय को प्रमाणपत्र पर प्रधानमंत्री की तस्वीर का विकल्प तलाशने का आदेश दिया है.

Advt

इसे भी पढ़ें: साढ़े तीन माह के बच्चे को पिता ने पटक-पटककर मार डाला

आयोग के सूत्रों के अनुसार, टीएमसी सांसद ने अपनी शिकायत में कहा था कि कोरोना वैक्सीन के डिजिटल प्रमाणपत्र पर पीएम नरेंद्र मोदी की तस्वीर का उपयोग पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनावों के दौरान अधिकारिक मशीनरी का दुरुपयोग है.

इसे भी पढ़ें: चाईबासा ब्लास्टः घायलों से मिली मेयर, लगाया आरोप- संसाधनों के अभाव में नक्सलियों से लड़ रहे हैं जवान

आयोग ने इस बाबत बुधवार को बंगाल के मुख्य चुनाव अधिकारी से रिपोर्ट तलब की थी. बंगाल के मुख्य चुनाव अधिकारी ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि टीकाकरण अभियान केंद्र की योजना है.

लिहाजा डिजिटल प्रमाणपत्र पर पीएम की तस्वीर लगाने का फैसला भी केंद्र सरकार का है. सूत्रों का कहना है कि इसके बाद आयोग ने स्वास्थ्य मंत्रालय को इस तस्वीर का विकल्प तलाशने का निर्देश दिया है.

इसे भी पढ़ें: राज्य की जनता को दिखाया गया ठेंगा, लोकतंत्र का गला घोंट रही राज्य सरकार: भानु

 

 

 

Advt

Related Articles

Back to top button