न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

टाइम्स नाउ-CNX का सर्वेः यूपी में महागठबंधन हुआ तो NDA की घटेंगी 42 सीटें

226

New Delhi: 11 दिसंबर को पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव के नतीजे आयेंगे. ये नतीजे तय करेंगे कि लोकसभा चुनाव की तसवीर क्या होगी. इसे एक तरह का लोकसभा चुनाव का सेमीफाइनल ही माना जा रहा है. चुनाव के इस दौर में न्यूज चैनल टाइम्स नाउ और CNX ने उत्तर प्रदेश में ओपिनियन पोल के माध्यम से जनता का मूड समझने की कोशिश की है. सर्वे के मुताबिक यूपी में अभी चुनाव कराए जाएं और सभी पार्टियां अकेले मैदान में उतरें तो बीजेपी को 16 सीटों का नुकसान हो सकता है.

2014 में भाजपा को मली थीं 71 सीटें

2014 के चुनाव में बीजेपी को 71 सीटें मिली थीं लेकिन सर्वे के अनुसार अभी चुनाव होने पर उसे 55 सीटों से ही संतोष करना पड़ेगा. सर्वे के मुताबिक कांग्रेस को 3 सीटों की बढ़त मिलेगी औऱ वह पांच सीटें जीत सकती है. पिछले चुनाव में खाता खोलने में नाकाम रही बीएसपी को इस बार 9 सीटें मिल सकती हैं. एसपी को 4 सीटों का फायदा हो सकता है.

टाइम्स नाउ-CNX प्री-पोल सर्वे में जनता से यह भी पूछा गया कि उनका पसंदीदा प्रधानमंत्री कौन है. साथ ही राफेल और राम मंदिर पर भी सवाल पूछे गये. लोगों से सवाल किया गया कि वे किस नेता को अगला प्रधानमंत्री बनते देखना चाहते हैं? 42 फीसदी के साथ नरेंद्र मोदी सबसे ज्यादा पसंदीदा प्रधानमंत्री हैं पर यूपी में उनकी लोकप्रियता में कमी आयी है. वहीं राहुल गांधी को 20 फीसदी लोगों ने प्रधानमंत्री के रूप में अच्छा कहा है. यूपी में राहुल गांधी का ग्राफ थोड़ा ऊपर गया है. प्रधानमंत्री के तौर पर मायावती को 11% और ममता बनर्जी को भी 11% लोगों का समर्थन मिला है.

इस सर्वे में शामिल लोगों से यूपी में महागठबंधन की संभावनाओं पर भी सवाल पूछे गए. इसमें जनता के सामने 2 परिस्थितियां रखी गईं.

महागठबंधन परिदृश्य-1

अगर SP, BSP, कांग्रेस और RLD मिलकर चुनाव लड़े तब समीकरण क्या हो सकते हैं? इस पर एनडीए को झटका लगता दिखा. सर्वे के मुताबिक अगर ऐसे हालात बने तो NDA को 31 जबकि SP+BSP+कांग्रेस+RLD महागठबंधन को 49 सीटें मिल सकती हैं. इस तरह से NDA को 42 सीटों का नुकसान हो सकता है.

महागठबंधन परिदृश्य-2

अगर यूपी में कांग्रेस महागठबंधन में शामिल नहीं होती है और SP, बीएसपी और RLD मिलकर चुनाव में उतरने का फैसला करते हैं तब भी NDA को नुकसान उठाना पड़ सकता है. अगर ऐसे हालात बने तो NDA (2014 में 73 सीटें) को 28 सीटों का नुकसान हो सकता है और SP+BSP+RLD महागठबंधन को 33 सीटें मिल सकती हैं. वहीं, पिछले चुनाव में 2 सीटें जीतने वाली कांग्रेस को इस बार कोई फायदा होता नहीं दिख रहा है.

इसे भी पढ़ें – कारपोरेट के दवाब के आगे फिर झुकी मोदी सरकार, अब फार्मा कंपनियां जान भी ले लेंगी तो मुआवजा नहीं

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: