JharkhandLead NewsRanchi

किसानों को योजनाओं का लाभ ससमय दिलाना प्राथमिकता: क़ृषि मंत्री

Ranchi: केन्द्र एवं राज्य सरकार द्वारा किसानों के लिए चलायी जा रही कल्याणकारी योजनाओं को ससमय पूरा करायें. ताकि किसानों को उन योजनाओं का लाभ मिल सके. इन योजनाओं को धरातल पर उतराने के लिए विभिन्न आयामों का प्रयोग करते हुए योजनाओं को पूर्ण कराना सुनिश्चित करें. उक्त निर्देश कृषि मंत्री बादल पत्रलेख ने वीडियो कॉन्फ्रसिंग के माध्यम से पलामू, लातेहार एवं गढ़वा उपायुक्त एवं कृषि विभाग के पदाधिकारियों को दिया. वे शुक्रवार को नेपाल हाउस में आयोजित प्रमण्डल स्तरीय समीक्षा बैठक में पलामू प्रमण्डल में कृषि विभाग द्वारा किये जा रहे कार्यों की समीक्षा कर रहे थे.

इसे भी पढ़ें:शूटआउट के बाद प्रशासन टाइट, बंद होंगी मोरहाबादी की सभी दुकानें

कृषि ऋण माफी सरकार की प्राथमिकता

कृषि मंत्री ने अधिकारियों निदेश दिया कि कृषि ऋण माफी योजना में लाभुकों के चयन में तेजी लायें ताकि अधिक से अधिक किसानों का ऋण माफ किया जा सके. उन्होंने निर्देश दिया कि इस कार्य को अभियान चला कर पूरा करें.
योजनाओं का प्रचार-प्रसार सुनिश्चित करें

कृषि मंत्री ने कहा कि सरकार द्वारा चलायी जा रही योजनाओं की जानकारी किसानों तक पंहुचे, इसके लिए प्रयास करें. प्रत्येक प्रखण्ड में योजनाओं की जानकारी दें. इसके लिए प्रखण्ड के प्रमुख स्थानों को चिहिन्त करें एवं वहां पर फ्लैक्स लगा कर सरकार द्वारा किसानों के लिए चलायी जा रही महत्वपूर्ण योजनाओ की जानकारी दें.

जिला, प्रमण्डल एवं प्रखण्ड स्तर पर कृषि विभागों के भवनों की दीवारों पर दीवार लेखन कर योजनाओं की जानकारी दे सकतें हैं.

कृषि मंत्री ने कहा कि कोविड गाईडलाईन का पालन करते हुए स्थानीय कलाकारों का सहयोग लेकर नुक्कड़-नाटक के माध्यम से भी लोगों को योजनाओं की जानकारी दे सकते हैं. इस तरह से प्रचार-प्रसार होने से अधिक से अधिक किसान योजनाओं के प्रति जागरुक होकर उन योजनाओं का लाभ ले सकेंगे.

इसे भी पढ़ें:1200 करोड़ का स्टार्ट अप खड़ा करनेवाले चाईबासा के अंकित ने झारखंड के स्कूली पाठ्यक्रम में कोडिंग को शामिल करने का दिया सुझाव

बीज वितरण का कार्य ससमय सुनिश्चित करें

समीक्षा बैठक में कृषि मंत्री ने कहा कि बीज वितरण का कार्य ससमय सुनिश्चित करें. उन्होंने कहा कि जिन प्रमण्डल में जिस बीज की मांग अधिक है उसे ध्यान में ही रखकर बीज वितरण कार्य किया जाये. बैठक में बतलाया गया कि लातेहार में 7 दाल मिल, पलामू में 8 और गढ़वा में 7 दाल मिल लगाया जायेगा. कृषि मंत्री ने पलामू उपायुक्त को निर्देश दिया कि पलामू का दाल कॉफी प्रसिद्ध है इसे विदेशों तक पंहुचायें और इस कार्य में विभाग पूरी मदद करेगा.

राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा मिशन योजना को धरातल पर उतारने के जिसे उसके विभिन्न आयामों को पूराकर इस योजना को शत-प्रतिशत पूरा करायें.

इसे भी पढ़ें:BJP Candidate List 2022 UP: BJP के 91 उम्मीदवारों की लिस्ट जारी, 16 विधायकों के टिकट काटे, 27 नए चेहरों को दिया मौका

पलामू एवं लातेहार पशुपालन पदाधिकारी को शॉ-काज

मुख्यमंत्री पशुधन योजना की समीक्षा में पलामू एवं लातेहार जिला द्वारा लक्ष्य के विरुद्ध कम लाभुकों को गाय वितरित करने पर कृषि मंत्री ने दोनो जिलों के जिला पशुपालन पदाधिकारी को शॉ-काज करने का निर्देश दिया. साथ ही पलामू प्रमण्डल के तीनों जिलों के जिला पशुपालन पदाधिकारी को निर्देश दिया कि सुकर पालन, बकरा पालन, ब्रायलर-कुकुक्ट पालन, बत्तख पालन में शत-प्रतिशत लाभुकों का चयन कर येाजना को पूर्ण करें.

इसे भी पढ़ें:यूपी में बीजेपी के खिलाफ प्रचार नहीं करेंगे सीएम नीतीश कुमार

अधिक से अधिक लाभुकों को लाभ दिलाना प्राथमिकता

कृषि सचिव अबु बकर सिद्दकी ने पलामू प्रमण्डल के उपायुक्तों एवं कृषि विभाग के पदाधिकारियों को निर्देश दिया कि कृषि विभाग चलाई जा रही योजनाओं को प्राथमिकता के आधार पर लेकर इसे पूर्ण करायें ताकि अधिक से अधिक लाभुकों को इसका लाभ मिल सके. इस दिशा में विभाग का पूरा सहयोग मिलेगा. हमारी प्राथमिकता अधिक से अधिक लाभुकों को लाभ दिलाना है.

बैठक में मौजूद रहे पदाधिकारी

समीक्षा बैठक में कृषि निदेशक निशा उरांव, पशुपालन निदेशक शशिप्रकाश झा, मत्स्य निदेशक एचएन द्विवेदी, सहकारिता निबंधक मृंत्यजंय वर्णवाल, समिति निदेशक सुभाष सिंह एव विशेष सचिव प्रदीप हजारे सहित विभाग के पदाधिकारी उपस्थित थे.

इसे भी पढ़ें:मोरहाबादी में हुई घटना में शामिल अपराधियों को किसी भी हाल बख्शा नहीं जायेगाः मुख्यमंत्री

Advt

Related Articles

Back to top button