Crime NewsDeogharJharkhand

देवघर में तीन युवकों की गोली मारकर हत्या

Deoghar: जिले के जसीडीह थाना क्षेत्र के बाघमारा बस स्टैंड के पास एक अर्धनिर्मित मकान से पुलिस ने मंगलवार को तीन युवकों का शव बरामद किया है. तीनों मृतक युवक सोमवार 11 बजे सुबह से ही घर से गायब था. कोई घर से कालेज जाने तो कोई काम से घर से बाहर जाने की बात कह कर निकला था. मृतकों की उम्र 20 से 25 वर्ष के बीच बतायी जाती है. मृतकों में रीतेश कुमार सुल्तानियां रिफ्यूजी कालोनी झौसागड़ी, शिवनंदन सिंह उर्फ छोटू शहीद आश्रम रोड़ व शानू कुमार मिश्रा शिवलोक कालोनी तिवारी चौक देवघर का रहने वाला था.

मंगलवार की सुबह घटना की सूचना मिलने के बाद एसपी अश्विनी सिन्हा घटनास्थल पर पहुंचे और मामले की जांच की. एसपी ने बताया कि तीनों युवकों की हत्या हुई है. पुलिस ने घटनास्थल से एक पिस्टल व घटनास्थल से लगभग 2 सौ मीटर की दूरी पर एक बाइक बरामद किया है. वहीं मामले को लेकर पुलिस अब फिंगर एक्सपर्ट, टैक्निकल एक्सपर्ट और डॉग स्क्वैड की मदद से मामले की जांच में जुट गयी है.

ज्ञात हो कि जसीडीह थाना क्षेत्र के बाघमारा बस स्टैंड के पास सुनसान इलाके के एक अर्धनिर्मित मकान से तीन युवकों का शव मिला था. शव के बगल में एक पिस्टल भी रखा हुआ पाया गया है. तीनों शव एक दूसरे के बगल में रखा हुआ था. इस वीभत्स घटना का कारण क्या है यह अभी पता नहीं चल सका है.

मृतकों के कुछ परिजन घटना की जानकारी के बाद मौके पर पहुंचे, जबकि पूछताछ के क्रम में परिजनों ने किसी से दुश्मनी नहीं होनें की बात कही है. मामले को लेकर एफआईआर दर्ज किया जाएगा. वहीं एसपी ने बताया की हो सकता है आपसी विवाद में यह घटना घटी हो या फिर बाइक से घटना को अंजाम दिया गया हो.

फिलहाल घटना के बाद से परिजनों का रो रो कर बुरा हाल है और मोहल्ले में मातम पसरा हुआ है. जहां तीनों शव बरामद किया गया है वह पंकज दास नामक व्यक्ति का जमीन है. चर्चा है कि तीनों युवक घर में अभिभावकों से झूठी बात कह कर निकले थे. इस दौरान शराब पीने के दौरान तीनों की हत्या कर दी गई है. जिसमें से दो युवक शानू कुमार मिश्रा व शिवनंदन सिंह उर्फ छोटू को सर के ललाट पर व रीतेश सुल्तानियां के चेहरे पर गोली लगने के निशान पाए गए हैं.

डीसी के आदेश पर मेडिकल बोर्ड ने किया शव का पोस्टमार्टम

बाघमारा बस स्टैंड के पास एक अर्धनिर्मित मकान के कमरे बरामद तीनों शवों का पोस्टमार्टम मंगलवार की शाम डीसी मंजूनाथ भजंत्री के निर्देश पर सदर अस्पताल में गठित तीन सदस्यीय मेडिकल बोर्ड द्वारा किए जाने के बाद शव अंतिम संस्कार के लिए परिजनों को सौंप दिया गया.

इस दौरान पोस्टमार्टम की कार्रवाई का विडियोग्राफी भी कराई गई. जिससे सदर अस्पताल में पुलिस बल के साथ देखने वाले लोगों की भीड़ जमा हो गई.

इसे भी पढ़ें : इंफ्रास्ट्रक्चर के नाम पर खूब बनीं इमारतें, पर खत्म हो गये ओपन स्पेस और बच्चों के खेल के मैदान

Related Articles

Back to top button