न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

नोटबंदी के तीन सालः वर्षगांठ या बरसी? हमें लिखें

303

NW Desk: 8 नवंबर 2016. नोटबंदी. आपको याद होगी यह तारीख और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की घोषणा. इस तारीख ने देश को सड़क पर खड़ा होने को मजबूर कर दिया था. कहा तो यह गया था कि नोटबंदी बहुत जरुरी हो गयी थी. इस एक कदम से काला धन, भ्रष्टाचार, आतंकवाद, उग्रवाद सब खत्म हो जायेंगे. ये सब खत्म हुए या नहीं, यह तो सरकार ने अब तक नहीं बताया. पर नोटबंदी के कारण छोटे व मंझोले उद्योग-धंधे बर्बाद हो गये. लाखों लोग बेरोजगार हो गये.

न्यूज विंग इसी विषय पर आपसे विचार आमंत्रित करता है. नोटबंदी पर आप क्या अनुभव करते हैं. 8 नवंबर को वर्षगांठ के रुप में मनाया जाये या बरसी के रुप में.

अपने विचार हमें यहां लिंक पर क्लिक करके भेजें.

hotlips top

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

o1
You might also like