न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

नेपाल से रांची आयी तीन महिलाओं का अपहरण, मामले की जांच में जुटी पुलिस

1,212

Ranchi: डोरंडा थाना क्षेत्र में नेपाल से रांची अपने पिता से मिलने आये तीन लोगों का हथियार के बल पर अपराधियों के द्वारा राजेंद्र चौक के पास अपहरण करने का मामला सामने आया है. बता दें कि नेपाल से रांची अपने पिता से किशन तमांग नाम का युवक अपनी दो बहनों और मां के आया था. इसी दौरान युवक ने पुलिस को बताया कि उसकी मां और दोनों बहनों का काले रंग के वाहन में बैठे चार युवकों ने हथियार के बल पर अपहरण कर लिया. जिसके बाद युवक ने इसकी जानकारी डोरंडा थाना पुलिस को दी. जानकारी मिलने के बाद पुलिस मामले की जांच में जुट गयी है.

इसे भी पढ़ें – चुनावी साल है, कार्यदिवस कम, प्राथमिकता तय कर करें कामः मुख्य सचिव

क्या है मामला

मिली जानकारी के अनुसार नेपाल से रांची पहुंचे किशन तमांग नाम के युवक ने पुलिस को बताया कि वह अपने परिवार के साथ अपने पिता गणेश तमांग से मिलने के लिए ट्रेन से रांची पहुंचा था. सोमवार की रात अपनी दोनों बहनों और मां के साथ रांची स्टेशन से निकल कर डोरंडा थाना क्षेत्र के राजेंद्र चौक के पास पहुंचा. जहां काले रंग के स्कॉर्पियो में सवार चार युवकों ने हथियार के बल पर उसकी मां और दोनों बहनों का अपहरण कर लिया.

इसे भी पढ़ें – आनेवाले पांच दिनों में दो से तीन डिग्री बढ़ेगा तापमान, मेदिनीनगर में तापमान 42 डिग्री सेल्सियस होने की संभावना

नशीला पदार्थ सुंघाकर कर दिया बेहोश

किशन ने पुलिस को बताया कि अपराधियों ने उसकी दोनों बहनों और मां को नशीला पदार्थ सुंघाकर बेहोश कर दिया. जिसके बाद उसने अपराधियों का विरोध किया, तो अपराधियों ने उसके मुंह पर रुमाल रख दिया. जिसकी वजह से वह बेहोश हो गया. उसे जब होश आया तब वह सड़क के किनारे पड़ा हुआ था. जिसके बाद वहां से गुजर रहे एक पुलिसकर्मी को युवक ने घटना की जानकारी की दी. पुलिसकर्मी युवक को डोरंडा थाना ले आया और युवक ने इसकी जानकारी डोरंडा थाना प्रभारी को दी. जिसके बाद पुलिस मामले की छानबीन में जुटी हुई है. पुलिस युवक से भी पूछताछ कर रही है.

इसे भी पढ़ें – संथालपरगना में है भाजपा की नजर, झामुमो का है मजबूत आधार

पुलिस कर रही है मामले की जांच

इस मामले में हटिया डीएसपी से बात करने पर उन्होंने ने बताया कि युवक के पिता गोरखा बटालियन में तैनात हैं. पुलिस की टीम ने गोरखा बटालियन में इसके बारे में पता किया तो वहां उसके पिता के बारे में कोई जानकारी नहीं मिली. हालांकि मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस लगातार शहर में छापेमारी कर रही है और मामले की छानबीन में जुटी हुई है.

इसे भी पढ़ें – गिरिडीह लोकसभा में जनता उम्मीदवार पर खुद फैसला ले, मेरा समर्थन किसी को नहीं हैः माधवलाल

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
झारखंड की बदहाली के जिम्मेदार कौन ? भाजपा, झामुमो या कांग्रेस ? अपने विचार लिखें —
झारखंड पांच साल से भाजपा की सरकार है. रघुवर दास मुख्यमंत्री हैं. वह हर रोज चुनावी सभा में लोगों से कह रहें हैं: झामुमो-कांग्रेस बताये, राज्य का विकास क्यों नहीं हुआ ?
झामुमो के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन कह रहें हैं: 19 साल में 16 साल भाजपा सत्ता में रही. फिर भी राज्य का विकास क्यों नहीं हुआ ?
लिखने के लिये क्लिक करें.

you're currently offline

%d bloggers like this: