JharkhandRanchi

लातेहार में तेज बारिश में बहे तीन आदिम जनजाति के व्यक्तियों के परिजनों को अब तक नहीं मिला है मुआवजा, न ही मिली है नौकरी : भाजपा

  • भाजपा अनुसूचित जनजाति मोर्चा के प्रतिनिधिमंडल ने लातेहार में हुए घटना की जांच रिपोर्ट दीपक प्रकाश और बाबूलाल मरांडी को सौंपी

Ranchi: लातेहार के तारवादिह पंचायत के नरेशगढ़ गांव में 6 मार्च को आदिम जनजाति परिवार के तीन सदस्यों की तेज बारिश में नदी में बह जाने से मृत्यु हो गयी थी. भारतीय जनता पार्टी अनुसूचित जनजाति मोर्चा ने इस घटना की जांच के लिए एक जांच कमिटी बनायी थी.

जांच कमिटी ने घटनास्थल एवं मृतकों के गांव का दौरा कर वस्तुस्थिति की जानकारी लेकर रिपोर्ट तैयार की. मंगलवार को अनुसूचित जनजाति मोर्चा के प्रतिनिधिमंडल ने पूर्व विधायक रामकुमार पाहन के नेतृत्व में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष दीपक प्रकाश, विधायक दल के नेता बाबूलाल मरांडी एवं संगठन महामंत्री धर्मपाल से मिल कर जांच रिपोर्ट सौंपी.

इसे भी पढ़ें – #NirbhayaCase: कोर्ट ने मुकेश की एक और याचिका को किया खारिज, 20 मार्च को ही होगी फांसी

ग्रामीणों ने बरामद किया था शव, प्रशासन ने दिखायी थी उदासीनता

रामकुमार पाहन ने अपनी जांच रिपोर्ट में बताया है कि आदिम जनजाति परिवार के तीन सदस्य बारिश के पानी के तेज बहाव में बह गये थे. प्रशासन की उदासीनता और लापरवाही के कारण इस घटना पर कोई कार्रवाई नहीं की गयी.

ग्रामीणों के द्वारा प्रशासन को बार-बार आग्रह के बावजूद भी कोई संज्ञान नहीं लिया गया. अंततः ग्रामीणों ने स्वयं अपने प्रयास से तीनों शवों को बरामद किया. पाहन के अनुसार आज तक मृतकों के परिजन को न तो कोई मुआवजा प्राप्त हुआ है और न ही परिवार के किसी सदस्य को सरकारी नौकरी दी गयी है.

मृतकों का गांव सरयू एक्शन प्लान के अंतर्गत आता है. इसके बावजूद यह गांव विकास से कोसों दूर है. मृतक परिवार और गांव के किसी भी व्यक्ति के पास राशन कार्ड तक नहीं है. प्रतिनिधिमंडल में प्रदेश उपाध्यक्ष अशोक बड़ाईक, अशेष बारला, बिंदेश्वर उरांव, अवधेश सिंह चेरो व अन्य भी शामिल थे.

इसे भी पढ़ें – रघुवर सरकार के समय प्रचार-प्रसार में लगे 50 एलईडी वैन पर लगी रोक

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button