JharkhandRanchi

PMAYG के लिए साल 2019-20 में बनने थे तीन लाख 22 हजार आवास, अब तक महज 6259 का ही निर्माण

विज्ञापन

Ranchi : ग्रामीण विकास विभाग मंत्रालय की ओर से साल 2016 में  प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण (PMAYG )की शुरूआत की गयी. झारखंड में योजना के तहत साल 2016 से 2020 तक में 8 लाख 50 हजार 791 आवास बनने थे. लेकिन राज्य सरकार की ओर से अब तक चार लाख 77 हजार, 236 आवास बनायें गये. लगभग पचास प्रतिशत आवास बनाने का ही लक्ष्य राज्य सरकार ने पूरा किया.

हालांकि योजना अलग-अलग चरणों में पूरी की जा रही है. साल 2022 तक राज्य सरकार ग्रामीण क्षेत्र में निवास करने वाले वैसे लोगों को घर उपलब्ध कराना है, जो बेघर है. इसमें फोकस झुग्गी झोपड़ी में रहने वाले ग्रामीण हैं.

योजना के अनुसार, केंद्र सरकार 60 प्रतिशत और राज्य सरकार 40 प्रतिशत फंडिंग करती है. साल 2016 से अब तक का देखें तो केंद्र और राज्य से मिले फंड का लगभग 27 प्रतिशत अब तक राज्य सरकार ने खर्च किया है.

इसे भी पढ़ें – सांसद गीता कोड़ा के सहारे कोल्हान में टिकी है कांग्रेस, जेएमएम पर है सीट बचाने का प्रेशर

साल 2019-20 के लिये अब छह माह का समय

साल 2019-20 में राज्य सरकार को केंद्र की ओर से 3 लाख 22 हजार का लक्ष्य दिया गया. इसमें से लगभग 6259 आवास इस साल अब तक बनाये गये. जो लक्ष्य का कुल 4.43 प्रतिशत है. इस साल का लक्ष्य पूरा करने के लिए ग्रामीण विकास विभाग के पास अब मात्र छह माह हैं. ग्रामीण विकास विभाग के अधिकारियों के अनुसार, चुनाव के कारण इस बार केंद्र की ओर से लक्ष्य में देरी की गयी.

जिससे कारण योजना ही देर से शुरू हुई. इस वित्तीय वर्ष के लिए केंद्र की ओर से छह अरब, 97 करोड़, 67 लाख, 98 हजार आवंटित किया गया. वहीं राज्य सरकार की ओर से चार अरब, 24 करोड़, 51 हजार जारी किया गया.

जो राज्य सरकार के 40 प्रतिशत भागीदारी का 36.79 प्रतिशत है. इस आवंटित राशि का अब तक लगभग दो अरब, 38 करोड़, 97 लाख, 17 हजार राज्य सरकार की ओर से खर्च कर दिया गया है.

इसे भी पढ़ें – जानिए उन विधायकों को जिन्होंने #BJP के उम्मीदवार को हराया और बन गए भाजपायी, अब टिकट को लेकर रार

किस-किस वर्ष कितने लक्ष्य और कितने आवास बने

साल 2016-17 के लिए राज्य सरकार के पास दो लाख 30 हजार 855 आवास बनाने का लक्ष्य था. इसमें से दो लाख 14 हजार, 475 आवास बनाये गये. साल 2017-18 में एक लाख 59 हजार 52 आवासों के लक्ष्य में से एक लाख 39 हजार 626 आवास बनाये गये.

साल 2018-19 में एक लाख 38 हजार 884 आवास बनाये गये. हालांकि इन सालों में सभी आवासों के लिए स्वीकृति दे दी गयी थी.

तीन चरणों में पूरा करना है लक्ष्य

ग्रामीण विकास विभाग के अधिकारियों से जानकारी मिली कि आवास योजना में लगभग लक्ष्य पूरा कर लिया जा रहा है. तीन चरणों में योजना को पूरा करना है. फोकस ग्रामीण क्षेत्र है. इसमें पहला चरण साल 2016 से 19 के लिए है.

योजना में पहले चरण में लगभग चार लाख 70 हजार 525 आवास बनाये गये. दूसरा फेज साल 2019 से 20 का है. जिसमें तीन लाख 22 हजार का लक्ष्य है. इस साल योजना देर से शुरू की गयी.

हालांकि केंद्र सरकार की ओर से योजना को लागू करते वक्त तीन चरण और साल 2022 तक आवास योजना ग्रामीण के तहत आवास बनाने की बात कही गयी थी.

इसे भी पढ़ें – #Bokaro विधायक और मेयर दिवाली पर खेल रहे हैं ‘शिलापट बम’, उड़ रहा मजाक, DC ने बैठा दी जांच

Advertisement

Related Articles

Back to top button
Close