National

फानी तूफान से ओडिशा में तीन की मौत, बंगाल की ओर बढ़ा

Bhubaneswar : फानी चक्रवात का तूफानी रूप आंध्र प्रदेश, ओडिशा में देखने को मिला. सुबह करीब साढ़ें नौ बजे तूफान 245 किमी. प्रति घंटे की रफ्तार से ओडिशा के पुरी तट पर पहुंचा.

ओडिशा में भारी बारिश और प्रचंड हवाओं के साथ चक्रवाती तूफान ‘फानी’ पहुंचने के बाद पेड़, झोपड़ी और कच्चे मकान सबकुछ उड़ गए. ओडिशा के पास से लगातार कई ऐसी तस्वीरें सामने आ रही हैं, जो भयावह हैं.

इसे भी पढ़ेंः एडीजी अनुराग गुप्ता को झटकाः झारखंड हाईकोर्ट ने खारिज की याचिका, आयोग के निर्देश को ठहराया सही

Catalyst IAS
ram janam hospital

तीन की मौत

The Royal’s
Pushpanjali
Sanjeevani
Pitambara

वहीं विभिन्न घटनाओं में तीन लोगों की मौत हो गयी. पुरी जिले के सखीगोपाल थानाक्षेत्र में एक पेड़ टूटकर एक किशोर पर गिर गया जिससे उसकी मौत हो गई. नयागढ़ जिले में कंकरीट के एक ढांचे का मलबा उड़कर एक महिला को जा लगा जिससे उसकी मौत हो गयी. वह पानी लेने गयी थी. केंद्रपाड़ा जिले के देबेंद्रनारायणपुर गांव में एक शरणार्थी शिविर में 65 वर्षीय एक महिला की मृत्यु हो गयी. हालांकि, ऐसा संदेह है कि महिला की मौत दिल का दौरा पड़ने से हुई.

इसे भी पढ़ेंः नामकुम में नैनो से 50 लाख से अधिक कैश बरामद, एक महीने में रांची से मिले 1.38 करोड़

240 से 245 किमी प्रति घंटा तक की रफ्तार से चली हवाएं

हैदराबाद के मौसम विभाग के मुताबिक ओडिशा के पुरी में 240 से 245 किमी प्रति घंटा तक की रफ्तार से हवाएं चल रही थीं. समुद्र तटीय इलाकों में लगातार तेज बारिश का दौर जारी है. भुबनेश्वर में भी तेज हवाएं और बारिश का कहर जारी है.

पुरी में कई इलाके और अन्य जगहों में पानी भर गया. राज्य के सभी तटीय इलाकों में भारी बारिश हो रही है. कई पेड़ उखड़ गए और भुवनेश्वर समेत कुछ स्थानों पर बनीं झोपड़ियां तबाह हो गई हैं.

इसे भी पढ़ेंः वाराणसी : पीएम मोदी के खिलाफ तेलंगाना के 24 किसानों का नामांकन  रद्द

बंगाल की ओर बढ़ा फानी

ओडिशा और आंध्र प्रदेश के अधिकांश तटीय शहरों में फिलहाल जबर्दस्त बारिश हो रही है, वहीं देर शाम तक तूफान के पश्चिम बंगाल तक पहुंचने की आशंका है. इन इलाकों में तेज हवाओं के चलते कई जगह यातायात प्रभावित हुआ है.

पश्चिम बंगाल में फानी तूफान को लेकर अलर्ट जारी कर दिया गया है. वहीं कोलकाता एयरपोर्ट को भी बंद कर दिया गया है. ट्रेन और प्लेन की सेवा पर तूफान की वजह से ब्रेक लगा दी गयी है. ताकि किसी भी प्रकारी की हानि लोगों को ना हो.

एनडीआरएफ के डीआईजी ऑपरेशन्स रणदीप राणा ने कहा कि एनडीआरएफ  की 55 टीम ओडिशा, आंध्र प्रदेश और दूसरे राज्यो में तैनात की गई हैं. टीम रिमोट एरिया में जाकर लोगों की मदद कर रही है. हालांकि टीम तीन-चार दिनों से तैनात है इसलिए नुकसान होने की संभावना कम है.

Related Articles

Back to top button