न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

बेकाबू रफ्तार के आगे हारती जिंदगी, अलग-अलग सड़क दुर्घटना में तीन की मौत- नौ घायल

टाटा-रांची रोड पर पलटी बस, हरमू में डंपर ने ऑटो को मारी टक्कर

30

Ranchi: बेकाबू रफ्तार के आगे एकबार फिर जिंदगी हारती नजर आई. सोमवार का दिन हादसे से भरा रहा. एक ओर जहां टाटा-रांची एनएच-33 पर यात्री बस दुर्घटनाग्रस्त हो गई. जिसमें दो लोगों की मौत हो गई, वही आठ लोग घायल हो गए. दूसरी ओर राजधानी रांची के हरमू रोड में ऑटो और डंपर में एक शख्स की मौत हो गई, जबकि एक गंभीर रूप से घायल है.

टाटा-रांची एनएच 33 पर दो लोगों की मौत

अनियंत्रित बस खाई में गिरी

टाटा-रांची एनएच 33 पर सोमवार तड़के सड़क हादसा हुआ है. इस हादसे में दो यात्रियों की मौत हो गई है, जबकि आठ यात्री बुरी तरह से घायल हैं. सभी घायलों को जमशेदपुर के साकची स्थित एमजीएम अस्पताल में भर्ती कराया गया है. घायलों में चार एक ही परिवार के बताए जा रहे हैं.

वहीं मिली जानकारी के अनुसार बस गया से टाटा आ रही थी. और बस ड्राइवर नशे में था और यात्रियों के आग्रह के बावजूद अनियंत्रित तरीके से गाड़ी चला रहा था.रंगामाटी के पास अनियंत्रित होकर बस गहरे खाई में गिर गयी.

रांची शहर में हादसा

राजधानी के अरगोड़ा थाना क्षेत्र में एक तेज रफ्तार डंपर ने ऑटो को जबरदस्त टक्कर मार दी. इस टक्कर में ऑटो के परखच्चे उड़ गए. हादसे में ऑटो ड्राइवर मोहन की दर्दनाक मौत हो गई. इस हादसे में मोहन की बेटी भी गंभीर रूप से घायल हो गई. ऑटो ड्राइवर मोहन अपनी बेटी को कॉलेज छोड़ने के लिए अपने ही ऑटो से जा रहे थे. हरमू रोड में ठीक सामने एक अनियंत्रित डंपर ने ऑटो में जबरदस्त टक्कर मार दी.

पिछले एक साल में सड़क हादसे में 3256 मौत

आंकड़े के अनुसार, पिछले एक साल में सड़क हादसे में 3256 लोगों की मौत हुई है. इनमें से 443 लोगों की मौत सिर्फ इसलिए हुई क्योंकि उनलोगों ने हेलमेट नहीं पहना था. वहीं, चार पहिया के 618 हादसे हुए जिनमें 383 लोगों की जान गई. इनमें से 141 लोगों ने सीट बेल्ट नहीं बांधा था.

राजधानी रांची में हर महीने 40 सड़क दुर्घटना

राजधानी रांची में हर महीने लगभग 40 से अधिक सड़क दुर्घटनाएं होती है. जिसमें लगभग हर महीने 30 लोगों की मौत हो जा रही. जनवरी से लेकर सितंबर 2018 के बीच रांची में 362 सड़क दुर्घटनाएं हुई. जिसमें 247 लोगों की जान चली गई. रांची में जनवरी महीने में सबसे अधिक 60 दुर्घटनाएं हुई. जबकि सबसे अधिक 41 मौत जून महीने में हुई है. सड़क दुर्घटना में लगातार वृद्धि हो रही है. लेकिन इसे रोकने के नाम पर कोई उपाय नहीं हो रहे है.

सड़क दुर्घटना के मामले में देश के टॉप 5 राज्य

सड़क दुर्घटना में मौत के मामलों में पूरे देश में इन पांच राज्यों को टॉप पर रखा गया है. यूपी में जहां 38783 हादसे हुए और उसमें 20124 लोगों की मौत हुई, वहीं मध्यप्रदेश में 53399 हादसे हुए जिनमें 10177 लोगों की मौत हुई. बिहार में 8855 हादसों ने 5554 लोगों को शिकार बनाया और झारखंड में कुल 5198 हादसों में 3256 लोगों की मौत हुई. इनके अलावा ओडि़शा में 10855 हादसे हुए, जिसमें 4790 लोगों की मौत हुई.

इसे भी पढ़ेंःकरोड़ों खर्च कर बनाये गये 67 मॉडल टॉयलेट, अब गंदगी और बदबू से लोग परेशान

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

%d bloggers like this: