न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें
bharat_electronics

IAS का दबदबा, तीन इंजीनियर इन चीफ, 25 चीफ इंजीनियर दरकिनार, बिजली बोर्ड में CMD का है पॉलिटिकल पोस्ट

अब तक सिर्फ चार टेक्नोक्रेट्स को ही मिला है CMD बनने का मौका, MD के पद पर भी IAS का दबदबा

2,592

Ranchi: झारखंड राज्य उर्जा विकास निगम में आईएएस अफसरों का ही दबदबा रहा है. सीएमडी (अध्यक्ष सह प्रबंध निदेशक) बनने का मौका सिर्फ चार इंजीनियरों को ही मिल पाया है. जिसमें एचबी लाल, राजीव रंजन, एसएन वर्मा, बीएम वर्मा और एसएन वर्मा का नाम शामिल हैं. वहीं अब तक 11 आईएएस बिजली बोर्ड के सीएमडी रहे हैं. वर्तमान में मुख्य सचिव सुधीर त्रिपाठी को बिजली बोर्ड के सीएमडी का प्रभार सौंपा गया है. वहीं एमडी पद पर भी आईएएस का दबदबा है. वितरण निगम के एमडी राहुल पुरवार और उत्पादन निगम के एमडी कुलदीप चौधरी हैं. संचरण निगम में एमडी निरंजन कुमार दूसरे सेवा के हैं.

mi banner add

इसे भी पढ़ेंःराजधानी के कर्बला चौक पर सिलिंग की जिस जमीन से डायमंड कंस्ट्रक्शन ने खींचा था हाथ, उस पर बन गया संतुष्टि अपार्टमेंट !

किसी भी आईएएस ने पूरा नहीं किया कार्यकाल

अब तक बिजली बोर्ड में जितने भी आईएएस अध्यक्ष रहे, उनमें से किसी ने भी तीन साल का कार्यकाल पूरा नहीं किया. पूर्व मुख्य सचिव शिव बसंत दो बार बिजली बोर्ड के अध्यक्ष रहे. पहले अध्यक्ष के रूप में इनका कार्यकाल सिर्फ दो माह का ही रहा. इसके अलावा बीके चौहान, पीपी शर्मा, टी नंदकुमार, डॉ शिवेंदू, एके चुग, एनएन पांडेय, आरके श्रीवास्तव, एसकेजी रहाटे, डॉ नितिन मदन कुलकर्णी और वर्तमान में मुख्य सचिव सुधीर त्रिपाठी को सीएमडी का प्रभार सौंपा गया है.

इसे भी पढ़ेंःरिम्‍स: डिस्‍पोजेबल बेडशीट की योजना ही हो गयी डिस्‍पोज

पहले भी गड़बड़ाया है बिजली बोर्ड का कैडर मैनेजमेंट

बिजली बोर्ड के बंटवारे के बाद कंपनियों में एमडी और डायरेक्टर की नियुक्ति आनन-फानन में कर ली गई थी. इसमें भी वरीयता का ख्याल नहीं रखा गया था. निदेशक मंडल में दो प्रधान सचिव रैंक के आईएएस अफसर शामिल थे. इसमें ऊर्जा और वित्त विभाग के प्रधान सचिव शामिल थे. इन्हें एमडी का निर्णय मानना बाध्य हो गया था. उस समय बिजली बोर्ड में प्रबंध निदेशक चीफ इंजीनियर रैंक के दो अफसर केके वर्मा और सुभाष सिंह को बनाया गया था. इन्हें आईएएस अफसरों को रिपोर्ट करना था. वहीं पूर्व सीएमडी एसएन वर्मा को भी आईएएस रिपोर्ट करते. इसके बाद इन अफसरों को बदला गया था.

इसे भी पढ़ेंःहैं CS रैंक के अफसर, काम कर रहे स्पेशल सेक्रेट्री का, कम ग्रेड पे पर भी काम करने को तैयार IFS अफसर

कौन-कब रहें बिजली बोर्ड के अध्यक्ष

राजीव रंजन- 16-03-2001 से 22-05-2003(इंजीनियर, पीएफसी)
बीके चौहान- 25-05-2003 से 16-10-2004(आईएएस)
एचबी लाल- 18-10-2004 से 28-07-2005(इंजीनियर)
पीपी शर्मा- 28-07-2005 से 18-01-2006(आईएएस)
टी नंदकुमार- 32-01-2006 से 05-07-2006(आईएएस)
डॉ शिवेंदू- 15-07-2006 से 04-01-2007( आईएएस)
बीएन पांडेय- 05-01-2007 से 31-12-2007(एनटीपीसी)
बीएम वर्मा- 31-12-2007 से 17-09-2008( उत्तराखंड, इंजीनियर)
डॉ एचबी लाल-18-09-2008 से 14-05-2009(इंजीनियर)
एके चुग- 15-05-2009 से 13-02-2010(आईएएस)
एनएन पांडेय- 13-02-2010 से 28-06-2010(आईएएस)
शिव बसंत-28-06-2010 से 30-08-2010(आईएएस)
एचबी लाल-30-08-2010 से 04-09-2010( इंजीनियर)
शिव बसंत- 04-09-2010 से 28-05-2011(आईएएस)
एसएन वर्मा- 01-06- 2011 से 12-01-2015(इंजीनियर, उत्तराखंड)
एसकेजी रहाटे(आईएएस)
आरके श्रीवास्तव(आईएएस)
डॉ नितिन मदन कुलकर्णी(आईएएस)
सुधीर त्रिपाठी(आईएएस)

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

dav_add
You might also like
addionm
%d bloggers like this: