JharkhandKoderma

कोडरमा के झुमरीतिलैया में तीन दिवसीय वेदिका शुद्धिकरण कार्यक्रम संपन्न

Koderma:  झुमरीतिलैया में मंगलवार को भगवान आदिनाथ को पालकी में बैठाकर भव्य शोभायात्रा में जैन समाज के लोगों ने नगर भ्रमण कराया. बड़ी संख्या में महिलाएं,पुरुष और बच्चे केसरिया वस्त्र और श्वेत वस्त्र में इस कार्यक्रम में शामिल हुए. विश्व शांति मंत्र और जैन धर्म के जयकारों से नगर और मंदिर गुंजायमान हुआ,महिलाओं ने जगह-जगह पर रंगोली बनाकर, डांडिया नृत्य करके भगवान की भक्ति में शामिल हुई. सुबह झुमरी तिलैया दिगंबर जैन मंदिर के मूलनायक देवाधिदेव 1008 श्री पारसनाथ भगवान का महा मस्तकाभिषेक एवं शांति धारा सुरेश-नरेंद्र झांझरी परिवार को प्राप्त हुआ. अनिलरोनक कासलीवाल परिवार को 1008 आदि नाथ भगवान की प्रतिमा, पूरण मल अजय सेठी के परिवार को 1008 नेमि नाथ भगवान की बड़ी प्रतिमा, नवीन-चेतन्य सेठी को महावीर भगवान की प्रतिमा को नवीन वेदी में विराजमान का सौभाग्य मिला.

यह भी पढ़े: कोडरमा में श्याम बाबा का निकला निशान यात्रा,सावन को लेकर बाबा का हरियाली श्रृंगार

शोभा यात्रा नगर भ्रमण कर बड़ा मंदिर पहुंची जहाँ मुनि श्री ने कहा कि इस तरह का भब्य मंदिर बनाने की योजना अपने आप मे एक तीर्थ नगरी जैसा है. झुमरीतिलैया में इतना भब्य कार्यक्रम दर्शाता है कि यहाँ के सभी लोगो मे नया मंदिर बनाने की बहुत उत्सुकता है और जल्द ही ये मंदिर एक नया रूप लाकर एक तीर्थ नगरी बन जायेगा. इसके बाद 24 परिवारों के द्वारा चार वेदी में  विराजमान सभी 24 प्रतिमाओं को मस्तक पर रखकर सरस्वती भवन के पांडुक शिला में विराजमान किया गया और सभी प्रतिमाओं का मुनि श्री विशल्य सागर जी महाराज की मुखारविंद से मंत्रोच्चारण कर अभिषेक एवं शांति धारा  24 परिवारों के द्वारा किया गया. अभिषेक के पश्चात सभी प्रतिमाओं को नवीन वेदी में विराजमान मुनि श्री 108 विशल्य सागर जी मुनिराज के द्वारा मंत्रोचार कर किया गया. कार्यक्रम में विशेष रूप से मंदिर जीर्णोद्धार कमेटी के संयोजक सुरेश झांझरी, सुशील छाबड़ा, कमल सेठी, ललित सेठी, नरेंद्र झंझरी, राज छाबड़ा, सुरेंद्र काला आदि शामिल हुए.

Sanjeevani

Related Articles

Back to top button