न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

तीन मुख्य अभियंता, किसके मत्थे चढ़ेगा सिरमौर

2,170
  • पेयजल और स्वच्छता विभाग के अभियंता प्रमुख इस माह होंगे सेवानिवृत
  • मुख्य अभियंता के दो पदों पर प्रोन्नति को लेकर रोस्टर के अनुसार बढ़ेगी संचिका
  • अभियंता प्रमुख के पद पर अनुसूचित जनजाति के दो मुख्य अभियंताओं की दावेदारी से मामला बना टेढ़ी खीर

Ranchi: पेयजल और स्वच्छता विभाग में अभियंता प्रमुख का पद 31 जनवरी के बाद रिक्त हो जायेगा. फिलहाल इस पद पर तनवीर अख्तर पदस्थापित हैं. ये मुख्य अभियंता (सीडीओ) के प्रभार में भी हैं. राज्य सरकार की ओर से श्री अख्तर और श्वेताभ कुमार को 29.10.2018 को मुख्य अभियंता के पद पर प्रोन्नति दी गयी थी. सामान्य कोटि से आनेवाले श्वेताभ कुमार अब अभियंता प्रमुख बनने की प्रबल दावेदारी कर रहे हैं. उनके सामने तीन साल पहले मुख्य अभियंता बने हीरा लाल प्रसाद और सृष्टिधर मोदी भी चुनौती पेश कर रहे हैं. दोनों क्षेत्रीय मुख्य अभियंता हैं और बतौर नियमित मुख्य अभियंता इनका कार्यकाल तीन वर्षों से अधिक का हो गया है. ये दोनों अनुसूचित जनजाति संवर्ग से आते हैं. श्वेताभ कुमार, हीरा लाल प्रसाद 1989 बैच के अभियंता हैं, जबकि श्री मोदी 1989 बैच से हैं.

सरकार ने शिथिल किया है नियम

पेयजल और स्वच्छता विभाग की ओर से अभियंता प्रमुख की अहर्ता से जुड़े नियमों को शिथिल किया गया अब दो वर्षों की जगह, एक एक वर्ष नियमित मुख्य अभियंता रहनेवाले व्यक्ति को ही अभियंता प्रमुख बनाने का नया नियम बना दिया गया है. इसमें भी श्वेताभ कुमार का अनुभव छह माह कम ग्हो रहा है. अभियंता प्रमुख पद के लिए स्वच्छ छवि वाले अधिकारी का भी चयन विभागीय प्रोन्नति समिति की बैठक में किये जाने का प्रावधान है. अब तक इसकी बैठक नहीं हुई है.

डीपीसी की बैठक में तय होगा नाम

विभागीय सचिव अराधना पटनायक की अध्यक्षता में होनेवाली विभागीय प्रोन्नति समिति की बैठक में अभियंता प्रमुख का चयन किया जायेगा. बैठक में मुख्य अभियंता के दो ख्राली पदों पर भी प्रोन्नति दिये जाने की संचिका बढ़ाई जायेगी. अधीक्षण अभियंता उमेश गुप्ता और नवरंग सिंह बनाये रखे जा सकते हैं. उमेश गुप्ता ने अपनी प्रोन्नति को लेकर हाईकोर्ट की शरण ले रखी है.

क्या कहते हैं अधिकारी

विभाग के संयुक्त सचिव एके अंबष्ठ ने कहा है कि अभियंता प्रमुख को लेकर वरीयता सूची और अनुभव दोनों पर विचार किया जायेगा.

इसे भी पढ़ेंः 2018 में एसीबी ने झारखंड में 69 लोगों को घूस लेते हुए किया गिरफ्तार

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: