न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

डायबिटीज को काबू में रखने के तीन लाभकारी आयुर्वेदिक नुस्खे

मधुमेह या डायबिटीज (Diabetes) में 150 फीसदी की वृद्धि हुई है

518

बाकी बिमारियों की तरह ही डायबिटीज भी शरीर के अदंर कई मैटाबॉलिक डिसऑर्डर उत्पन्न करता है और ब्लड शुगर लेवल भी बढ़ने लगता है. इसके कई कारण हो सकते है. आपकी लाइफ स्टाइल और खाने की आदतें के कारण भी डायबिटीज होने की संभावना बढ़ जाती है. परिवार के किसी सदस्य में पहले से ये रोग रहा हो यानी जेनेटिक डिस्पोजिशन डायबिटीज का प्रमुख कारण इसे भी माना जाता है. इससे कई प्रकार के नुकसान भी है जैसे की मोटापा और हृदय से जुड़े रोग का हो जाना.

इसे भी पढ़ें : जानें तुलसी और करी पत्ते के फायदे, कई बीमारियों में है रामबाण

डायबिटीज के मरीजों में 150 फीसदी की वृद्धि

भारत में साल 1990 से 2016 के बीच हृदय रोग (Heart disease) के मामलों में 50 फीसदी की बढ़त हुई है. इससे भी ज्यादा हैरान करने वाली बात यह है कि ये हैं कि मधुमेह या डायबिटीज (Diabetes) में 150 फीसदी की वृद्धि हुई है.

भारत में डायबिटीज मरीजों की संख्या 1990 में 2.6 करोड़ थी, जो 2016 में 6.5 करोड़ हो गई थी. एक रिपोर्ट के अनुसार भारत में फेफड़ों की बिमारी से ग्रसित मरीजों की संख्या इस दौरान 2.8 करोड़ से बढ़कर 5.5 करोड़ हो गई. शुगर, मधुमेह या diabetes दुनियाभर में आम बीमारियों में से एक बन गया है. इसे पूरी तरह से ठीक करना आसान नहीं है, अगर डाइट में कुछ बदलाव लाया जाय तो इसे काफी हद तक नियंत्रित किया जा सकता है.

इसे भी पढ़ें : कैंसर का कारण बन सकता है डायबिटीज – रिसर्च

आयुर्वेद के इन नुस्खों से काबू में रहता है डायबिटीज

डायबिटीज के मरीज को अपने खाने-पीने की आदतों का विशेष ध्यान रखने की आवश्यकता होती है. जिससे इसे खत्म ना सही कम से कम काबू में तो रखा ही जा सके. आयुर्वेद के इस्तेमाल से भी इसे काबू में रख सकते हैं.

इसे भी पढ़ें : जानें तुलसी और करी पत्ते के फायदे, कई बीमारियों में है रामबाण

ऑफिस में लगातार बैठना और धूम्रपान करना दोनों बराबर

डायबिटीज़ के रोकथाम के लिए आयुर्वेदिक नुस्खे (Ayurvedic remedy for diabetes) 

दि कम्पलीट बुक ऑफ आयुर्वेदिक होम रेमिडीज (The Complete Book of Ayurvedic Home Remedies) के अनुसार तीन ऐसे इंग्रीडिएंट्स हैं जो आपके ब्लड शुगर लेवल (blood sugar levels) को काबू में कर सकते हैं.

  • तेज पत्ता (Ground bay leaf)
  • हल्दी (Turmeric)
  • एलोवेरा (Aloe vera gel)

1. तेजपत्ता का इस्तेमाल (Bay leaf)

डायबिटीज के मरीजों के लिए तेजपत्ता किसी दवा से कम नहीं. खाने में या उबाल कर इसका सेवन किया जाए तो डायबिटीज को कंट्रोल में रखने मे मदद मिलेगी.

 

2. हल्दी का इस्तेमाल (Turmeric)

डायबिटीज से ग्रसित मरीजों के लिए हल्दी काफी लाभदायक है. शुगर ज्यादा बढ़ने पर पूरी जिंदगी इंसुलिन लेने की जरूरत होती है. लेकिन हल्दी की मदद से इसे काबू में किया जा सकता है. हल्दी को किसी भी उम्र में लिया जा सकता है. इसके लेने में कोई रोक नहीं है. खून की गंदगी को दूर करने में हल्दी मददगार साबित होती है. डायबिटीज के घाव को भी कम करने में हल्दी काफी मदद करती है.

3.एलोवेरा का इस्तेमाल (Aloe vera gel)

शोधों के मुताबिक एलोवेरा डायबिटीज मरीजों के लिए काफी लाभदायक है. यह ब्लड शुगर लेवल को काबू रखने में मददगार है.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: