Crime NewsJamshedpurJharkhand

Jamshedpur : पुलिस कर्मी बन लोगों से ठगी करने वाले ईरानी गैंग का सरगना समेत तीन गिरफ्तार, कई राज्यों में दे चुके है घटना को अंजाम, कोलकाता में ठगी कर आए थे जमशेदपुर

Jamshedpur : जमशेदपुर पुलिस को एक बड़ी सफलता हाथ लगी है. देश के कई राज्यों में पुलिस कर्मी बन लोगों से गहनों की ठगी करने वाले ईरानी गैंग के मुख्य सरगना समेत तीन लोगों को गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार किए गए आरोपियों में मुख्य सरगना मध्यप्रदेश के भोपाल के निषाढपूरा निवासी सादिक हुसैन, तकबीर खान और महाराष्ट्र के पुणे के शिवाजीनगर थाना क्षेत्र निवासी कासिम बेग शामिल है. पुलिस ने आरोपियों को निशानदेही में ठगी कई गहने बरामद किए है. पूछताछ में आरोपियों ने बीते सालों में विभिन्न कांडों में संलिप्त होने की बात स्वीकार की है. जिसमे मानगो में 7, कदमा में 3, सोनारी में 1 और साकची में 2 मामले दर्ज है.

कोलकाता में घटना को अंजाम देकर पहुंचे थे शहर
जानकारी देते हुए एसएसपी प्रभात कुमार ने बताया कि ईरानी गैंग में कुल 15 से 20 सदस्य शामिल है. यह गैंग देश के विभिन्न राज्यों के शहरों में घूम घूम कर लोगों से खुद को पुलिस कर्मी बताकर उनसे गहनों की ठगी कर लेते थे. यह गैंग भाड़े की गाड़ी में घूमकर घटना को अंजाम देते है और फिर दूसरे शहर में चले जाते है. बीते दिनों इस गैंग ने कोलकाता के खिदिरपुर में भी घटना को अंजाम दिया. वहां से पुरुलिया पहुंचे और फिर मंगलवार सुबह पुरुलिया से शहर पहुंचे. इसकी सूचना पुलिस को मिल चुकी थी जिसके बाद ग्रामीण एसपी मुकेश कुमार लुणायत के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया गया. इस दौरान मानगो, आजादनगर, उलीडीह और एमजीएम थाना के पुलिसकर्मी ने मिलकर नाकेबंदी की और तीनो को चेपापुल के पास से गिरफ्तार कर लिया. इनके पास से कुछ पत्थर के टुकड़े भी बरामद किए गए है जिसे ये लोग कीमती पत्थर बताकर लोगों को बेचते थे.
अय्याशी के लिए करते थे लोगों से ठगी
एसएसपी प्रभात कुमार ने बताया कि ये लोग ठगी करने के बाद गहनों को बेचने के लिए अलग से गैंग का संचालन करते थे. इस गैंग का काम ठगी के गहनों को बेचने का होता था. पैसे आने पर उसे बराबर बांटते थे. इस पैसे से महंगे मोबाइल, कपड़े और जूते खरीदकर अय्याशी करते थे. फिलहाल सभी को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है.

Related Articles

Back to top button