न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

बीएसएल में नौकरी के नाम पर ठगी का आरोपी राजेंद्र महतो समेत तीन गिरफ्तार

पिछले माह मशहूर भोजपुरी गायक खेसारी लाल करवाया था कार्यक्रम

707

Bokaro : बीएसएल प्लांट में नौकरी लगाने के नाम पर ठगी के आरोप में बोकारो पुलिस ने राजेंद्र महतो सहित तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है. वहीं राजेंद्र महतो हैं, जिन्होंने पिछले दिनों सेक्टर 5 पुस्तकालय मैदान में मशहूर भोजपुरी गायक खेसारी लाल यादव का कार्यक्रम करवाया था. पुलिस ने आरोपियों के पास से तीन मुहर बरामद किया है. जिसमें दो पर सेक्रेट्री मिनिस्ट्री ऑफ स्टील, गर्वनमेंट ऑफ इंडिया, न्यू दिल्ली और तीसरे मुहर पर मिनिस्ट्री ऑफ स्टील, गर्वनमेंट ऑफ इंडिया लिखा है. साथ ही स्टॉप के बीच में अशोक स्तंभ तथा उसके नीचे हिंदी में सत्यमेव जयते लिखा हुआ है.

एक महिला ने शिकायत दर्ज कराई

एसपी कार्तिक एस ने गुरुवार को प्रेस वार्ता में पत्रकारों को बताया कि राजेंद्र महतो रामडीह मोड़ थाना हरला का निवासी है. इसके साथ राजीव कुमार यादव, सूरज महतो को गिरफ्तार किया गया है. वहीं सहयोगी लव कुमार, नवीन कुमार सिंह, शिव चंद्रा ऊर्फ प्रकाश पासवान, पिंकू श्रीवास्तव उर्फ राहुल श्रीवास्तव फरार हैं. अभियुक्त राजेंद्र महतो, सूरज महतो को नगर सेवा भवन के पास से गिरफ्तार किया गया.

एसपी ने बताया कि गोरखपुर निवासी एक महिला ने शिकायत दर्ज कराई थी कि, उसके पहचान के एक व्यक्ति पिंकू श्रीवास्तव उर्फ राहुल श्रीवास्तव ने उनके बेटे सौरभ कुमार श्रीवास्तव को बीएसएल प्लांट में नौकरी लगाने के नाम पर बोकारो के एक चर्चित व्यक्ति राजेंद्र महतो एवं उनके सहयोगी राजीव कुमार यादव, लव कुमार, नवीन कुमार सिंह, सूरज महतो एवं अन्य के साथ मिलकर छह लाख रुपए की ठगी की है. जब नौकरी नहीं लगी तो, उक्त महिला ने राजेंद्र महतो के पास जाकर रुपए की मांग की.  इसके बाद महिला के साथ छेड़खानी की गयी एवं उन्हें डरा धमका कर भगा दिया गया. उक्त आवेदन के आधार पर सिटी थाना में मामला दर्ज किया गया.

राजीव करता था पैसा लेने का काम

अनुसंधान के क्रम में सबसे पहले राजीव कुमार यादव को गिरफ्तार किया गया. जिसमें स्वीकार किया कि राजेंद्र महतो कंस्ट्रक्शन के काम के अलावे बीएसएल, रेलवे एवं अन्य सरकारी विभागों में नौकरी लगाने के नाम पर ठगी का धंधा करता है. कुछ दिनों बाद राजेंद्र महतो ऐसे काम में राजीव को भी रखने लगा. किसी पार्टी के पास पैसे लेने का काम राजीव ही करता था. राजीव पैसे लेकर राजेंद्र महतो को देता था और सारे रुपए का बंटवारा होता था.

इस कार्य में सारा कागजी काम लव कुमार के जिम्मे था, चूंकि लव कुमार के पिता बीएसएल के अफसर पद से रिटायर हुए थे. इसलिए वे लव कुमार को सारे कागजी कामों में मदद करते थे. राजेंद्र महतो अभ्यर्थियों की तलाश में दिल्ली भी जाता था, वहां होटल में रूककर लोगों से मिलता था, उनके नाम का खुलासा अभी नहीं हो सका है.

बीजीएच के अंदर करवाते थे फर्जी मेडिकल

बीजीएच के अंदर कराते थे फर्जी मेडिकल जिनसे नौकरी लगाने के एवज में रुपए लिए जाते थे. वैसे अभ्यिर्थियों का फर्जी मेडिकल बीजीएच में ले जाकर कराया जाता था. इसमें सेक्टर 9 निवासी सूरज कुमार व अन्य मिलकर डॉक्टर और कंपाउंडर का रोल निभाते थे. अभ्यर्थी का फर्जी मेडिकल करवाकर सूरज कुमार ही डॉ. श्रवण और डॉ. राजेंद्र नाथ का जाली मुहर कागज पर मार देता था.

इस काम में बीजीएच एवं बीएसएल के भी कुछ कर्मचारी सम्मलित हैं. जिनके बारे में पुलिस पता लगा रही है. ये लोग ज्यादातर वैसे लोगों को अपना शिकार बनाते थे, जो झारखंड से बाहर के होते थे. आरोपियों के आवास में छापेमारी करने के क्रम में भारी मात्रा में बीएसएल में नौकरी लगाने के नाम पर रुपए ठगी करने में इस्तेमाल करने वाले कागजात बरामद किया गया है. जिसका बीएसएल प्रबंधन से जांच कराने पर प्रथम दृष्टया जाली पाया गया.

नकली मुहर व जाली नियुक्ति पत्र बरामद

एसपी ने बताया कि आरोपियों के आवास पर छापेमारी के क्रम में कई नकली मुहर और जाली नियुक्ति पत्र भी बरामद हुआ है. पुलिस इस मामले में गहनता से जांच कर रही है. छापेमारी दल में बीएस सिटी थाना प्रभारी मदन मोहन प्रसाद सिन्हा, पुलिस अवर निरीक्षक प्रेम कुमार रजक, सहायक अवर निरीक्षक महेंद्र सिंह, देवेंद्र सिंह, सहायक आरक्षी अमित कुमार सिंह, आरक्षी सिद्धेश्वर प्रसाद सिंह सहित चंदन कुमार, सिटी थाना के रिजर्व गार्ड व सशस्त्र बल के जवान शामिल थे.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: