न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

ढुल्लू पर शारीरिक शोषण की शिकायत करनेवाली को धमकी, केस उठा लो नहीं तो…

154

Dhanbad: विधायक ढुल्लू महतो के खिलाफ शारीरिक शोषण की आनलाइन शिकायत करनेवाली भाजपा नेत्री ने सोमवार को गांधी सेवा सदन में आकर अपना दुखड़ा रोया. कहा कि केस उठाने के लिए उन्हें धमकी दी जा रही है. ढुल्लू के लोगों ने कल रात को मेरा ब्यूटी पार्लर बंद करवा दिया. प्रशासन पूरी तरह ढुल्लू के साथ है. उनको डिमोरलाइज किया जा रहा है. मीडिया से पीड़िता ने कहा कि ढुल्लू महतो पर केस वापस लेने के लिए दबाव डालने और जान से मरवाने की कोशिश का आरोप लगाया. उन्होंने बताया की बीते 23 को उनपर बुलेट से कुछ युवकों के जरिये हमला कराया और गाली देते हुए केस वापस लेने की धमकी दी. उन्होंने भीगी आंखों से पत्रकारों को बताया कि अयोध्या ठाकुर भी ढुल्लू महतो के कहने पर सारा काम कार रहा था.

अगर सेक्स रैकेट चलाती थी तो भाजपा का मंत्री कैसे बनाया?

सेक्स रैकेट चलाने के आरोप पर कहा कि अगर ऐसी बात रहती तो उन्हें मंत्री नहीं बनाया जाता. भाजपा की सदस्यता कैसे मिली? अब आर्थिक दबाव बनाने के लिए उनका ब्यूटी पार्लर भी बंद करा दिया गया है. उन्हें इतना तक कह दिया गया है कि ऐसा दबाव बनाएंगे कि मैं खुद घुटने के बल जाकर अपनी बात वापस लूंगी. उनके बच्चों को स्कूल से निकालने की तैयारी हो रही है. उन्होंने कहा कि हम पूरे परिवार के साथ मरना पसंद करेंगे. लेकिन उनकी बात नहीं मानेंगे. उनका हाइवा भी ट्रेस किया जा रहा है ताकि उसे आर्थिक रूप से भी कमजोर किया जाये. कहा कि ढुल्लू महतो सांसद और मेरा कॉल डिटेल निकलवाने को कहते हैं. मेरा और उनका कॉल डिटेल क्यों नहीं निकालते? पार्टी ख़राब नहीं है कुछ लोग आकर पार्टी ख़राब कर देते हैं. पार्टी में सभी लड़की बिस्तर गर्म करने नहीं आती कुछ स्वाभिमानी भी होती है.

बेबस होकर प्रशासन के पास जाना पड़ा

ढुल्लू महतो के लाचार और बेबस करने पर मुझे प्रशासन के पास जाना पड़ा. और इसमें प्रशासन का कोई रोल नहीं है कि उनको जाकर पकड़े या पूछ-ताछ करे. उल्टा लीपापोती की जा रही है. दो दिन पहले जब मैंने शिकायत की तो बुलेट 5252 नंबर से आकर मुझे लड़का ने धक्का दिया और बन्दूक चलाया.

सब यही सोच रहा है कि 2015 का मामला है लेकिन उस वक़्त क्यों नहीं बोली ? उस वक़्त में यही सोच रही थी कि विधायक जी सत्ता में हैं मामला दबा दिया जायेगा. लेकिन जब वह बार बार अपने आदमी को भेजने लगे फिर भी मैं नहीं टूटी, ना हीं डरी.

इसे भी पढ़ें – विधायक इरफान अंसारी ने किया पीएम के लिए अपशब्द का इस्तेमाल, भाजपा ने कहा यही है कांग्रेस का संस्कार

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: