न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

तेजप्रताप ने पहले दी राजनीति छोड़ने की धमकी फिर कहा बीजेपी ने हैक किया अकाउंट

483

Patna: आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव इनदिनों सुर्खियों में पहले पहले नीतीश कुमार के लिए अपने घर में नो एंट्री का बोर्ड लगवाने की बात कह कर, अब राजनीति छोड़ने की धमकी देकर. बिहार के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री ने अपने खिलाफ चल रहे दुष्प्रचार से तंग आकर राजनीति छोड़ने की धमकी दी. अपने फेसबुक वॉल पर लंबा-चौड़ा पोस्ट डालकर उन्होंने कहा कि वो किसी दबाव में राजनीति नहीं करना चाहते और अगर उनकी कहीं कोई सुनवाई नहीं होती है तो वह राजनीति छोड़ देंगे.

इसे भी पढ़ेंः कौन बचा रहा है छह पुलिसकर्मियों की मौत के जवाबदेह अफसरों को

हालांकि, तेजप्रताप ने अपने इस पोस्ट को कुछ घंटे बाद ही डिलीट कर दिया और इसका ठीकरा बीजेपी पर फोड़ा. उन्होंने कहा कि बीजेपी ने उनका अकाउंट हैक कर लिया था. तेजप्रताप ने आरोप लगाये कि बीजेपी उनके परिवार और पार्टी में फूट डालना चाहती है और इसी वजह से उनके पोस्ट के साथ छेड़छाड़ की गई.

लोग पागल-सनकी कहते हैं-तेजप्रताप

तेजप्रताप ने अपनी फेसबुक पोस्ट में लिखा कि कुछ लोग उनके खिलाफ गलत अफवाह उड़ा रहे हैं और उन्हें बदनाम करने की साजिश रच रहे हैं. बिहार के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री के मुताबिक कुछ लोग उन्हें पागल, सनकी और जोरू का गुलाम तक बताते हैं. अपनी पोस्ट में तेजप्रताप ने ऐसे दो लोगों के नाम भी लिखे हैं जो उन्हें बदनाम कर रहे हैं. इनमें एमएलसी सुबोध राय और ओम प्रकाश यादव का नाम शामिल है. तेजप्रताप ने इन्हें ‘आस्तीन का सांप’ तक कह डाला. दरअसल, तेजप्रताप ने रविवार को ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तर्ज पर अपने क्षेत्र में ‘टी विथ तेजप्रताप’ नाम से कैंपेन शुरू किया है. इसी दौरान उन्हें इलाके के कार्यकर्ताओं से कुछ लोगों के खिलाफ शिकायतें मिलीं. अपने पोस्ट में उन्होंने जनता से अपील की है कि वह इन लोगों को क्षेत्र से बाहर करें. तेजप्रताप ने लिखा है कि वह अपनी शिकायत लेकर कई बार मां राबड़ी देवी और पिता लालू यादव के पास भी जा चुके हैं लेकिन उनकी मां सुनने को तैयार नहीं बल्कि उल्टे उन्हें डांट लगा देती हैं.

पहले किया था यह पोस्ट

अपने पोस्ट में तेजप्रताप ने आखिर में लिखा है कि अगर ऐसा ही माहौल बना रहा तो वह राजनीति से संन्यास ले लेंगे. वहीं जो लोग उनके खिलाफ दुष्प्रचार कर रहे हैं आगे वही लोग राजनीति करेंगे.

गौरतलब है कि इससे पहले भी आरजेडी में फूट की खबरें आयी हैं. वही तेजस्वी को अर्जुन और खुद को कृष्ण बताते हुए तेजप्रताप ने कहा था कि वह चाहते हैं अर्जुन को गद्दी सौंपकर खुद द्वारका चले जाएं. हालांकि पार्टी में फूट की खबरों को हवा मिलने के बाद दोनों भाइयों ने आपसी मनमुटाव की खबरों का खंडन कर इसे विपक्ष की साजिश करार दिया था.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: