न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

हजारों डोली मजदूरों को नजरअंदाज कर रही है सरकार : बाबूलाल मरांडी

पारसनाथ तीर्थ स्थल के डोली मजदूरों ने मांगी सुविधाएं

371

Giridih : जेवीएम सुप्रीमो बाबूलाल मरांडी ने गुरुवार को जैन तीर्थस्थल मधुबन में डोली मजदूरों के साथ बैठक की. मधुबन गेस्ट हाउस में हुई इस बैठक में मरांग बुरू सांवता सुसार बैसी नामक संस्था ने 5 सूत्री स्मार पत्र सौंप कर मजदूरों के साथ हो रही ज्यादती से उन्हें अवगत कराया.

mi banner add

इसे भी पढ़ेंः हेहल अंचल में 113.38 एकड़ गैरमजरुआ जमीन का घोटला, अधिकारियों की मिली भगत से हुआ खेल

बाबूलाल मरांडी को मांग पत्र सौंपते डोली मजदूर संघ के प्रतिनिधि

उपेक्षित हैं हजारों डोली मजदूर

डोली मजदूरों के प्रतिनिधि नूनवा टुडू ने बताया कि उनकी 5 प्रमुख मांगे हैं. इनमें पारसनाथ पर्वत पर बाइक से यात्रियों की ढुलाई पर पूर्णतः रोक, डोली मजदूरों के लिए विश्रामागार, चिकित्सा की उचित सुविधा, सस्ता भोजन की व्यवस्था और जिला प्रशासन के साथ हुए समझौता के आधार पर मजदूरी दर में वृद्धि कराना शामिल है. डोली मजदूरों की व्यथा सुनने के बाद जेवीएम सुप्रीमो बाबूलाल मरांडी ने कहा कि मधुबन जैनियों का प्रमुख तीर्थस्थल माना जाता है.

Related Posts

बकरी बाजार मैदान में कॉम्प्लेक्स बनाने के निर्णय को रद्द करने की मांग, AAP ने मेयर को सौंपा ज्ञापन

पार्टी ने मांग की कि उस मैदान को बच्चों के खेल के मैदान-पार्क के रूप में विकसित किया जाये

यहां सम्पूर्ण भारत से आने वाले जैन समुदाय के तीर्थयात्रियों की सेवा से गरीब मजदूरों का भरण पोषण होता है. मजदूरों की सभी मांगें जायज और न्यायसंगत है. यहां कार्यरत हजारो़ डोली मजदूरों को स्थानीय जैन संस्था और सरकार नज़रअंदाज़ कर उन्हें रोजगारविहीन करने पर उतारू है. उन्होंने मजदूरों को आश्वासन दिया कि वह संबंधित विभाग से बात कर उन्हें उचित सुविधा उपलब्ध करवाने की कोशिश करेंगे.

इसे भी पढ़ेंः राजधानी में गैर आदिवासियों ने हथिया ली आदिवासियों की जमीन,  2261 मामले हैं लंबित

 बैठक में ये थे मौजूद

इस बैठक में मुख्य रूप से जेवीएम के जिलाध्यक्ष महेश राम, केंद्रीय सदस्य शोभा यादव, जिला मीडिया प्रभारी राजेश जयसवाल, नगर अध्यक्ष नवीन सिन्हा, प्रखण्ड अध्यक्ष शमशाद आलम, उपाध्यक्ष शंकर सिंह, प्रखंड प्रमुख सिकंदर हैम्ब्रम, मधुबन पंचायत अध्यक्ष प्रदीप तुरी, अर्जुन हेम्ब्रम, मनोज मौर्या, अर्जुन मराण्डी समेत सैकड़ों डोली मजदूर उपस्थित थे.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: