JharkhandRanchi

करमा पूजा पर इस बार अखड़ा में नहीं लगेगी भीड़, जनजातीय संगठनों ने कहा- तीन दिनों का राजकीय अवकाश घोषित करे सरकार

Ranchi : 29 अगस्त को जनजातीय समाज करम पर्व मनायेगा. कोरोना संकट के कारण आदिवासी संगठनों ने अखड़ा में भीड़ नहीं लगाने का फैसला लिया है. केंद्रीय सरना समिति के अनुसार इस समय राज्य में लॉकडाउन जारी है. ऐसे में करम पर्व में समाज की सुरक्षा के लिए सावधानी बरती जायेगी. अखड़ा में होनेवाली पूजा के समय शामिल लोग मास्क का प्रयोग करेंगे. सोशल डिस्टेंसिंग का पालन भी किया जायेगा. समिति के मुख्य पाहन जगलाल ने राज्य सरकार से करम पर्व के पर तीन दिनों का राजकीय अवकाश घोषित करने की भी मांग की है. साथ ही सभी अखड़ा में साफ सफाई, बिजली, पानी, शौचालय, सैनिटाइजर और मास्क की व्यवस्था करने की भी अपील की है.

इसे भी पढ़ें – जीएसटी के 2500 करोड़ के साथ 50,000 एकड़ भूमि के एवज में 45,000 करोड़ का भुगतान करे केंद्र : डॉ उरांव

तीन दिनों तक मनेगा करम पर्व

ram janam hospital
Catalyst IAS

केंद्रीय सरना समिति ने गुरुवार को सरना टोली हातमा में गुरुवार को बैठक की. इसमें कोरोना खतरे के बीच करम पर्व मनाने के लिए जरूरी सावधानी की समीक्षा की गयी.

The Royal’s
Sanjeevani
Pitambara
Pushpanjali

केन्द्रीय अध्यक्ष बबलू मुण्डा के अनुसार इस बार कोरोना संक्रमण को ध्यान में रखते हुए ही करम पूजा का आयोजन होगा. 29 अगस्त को 8 बजे रात में करम पूजा पारम्पारिक धार्मिक विधि विधान और सादगी के साथ की जायेगी. करम देव का रात भर जागरण किया जायेगा. 30 को टोलों मोहल्लों के डिण्डा करम का और 31 को मौजा के राजी करम का घर-घर भ्रमण कराया जायेगा. इसके बाद रीति रिवाज के अनुसार इसका विसर्जन कर दिया जायेगा.

इसे भी पढ़ें – चांसलर पोर्टल में हो रही गड़बड़ी से कॉलेज परेशान, शुक्रवार को रांची विवि के कॉलेज जारी करेंगे सेलेक्शन लिस्ट

टोला या मौजा के अखड़ा में ही करम पूजा

समिति के महासचिव कृष्णकांत टोप्पो ने ईसाई मिशनरी से जुड़े लोगों से आग्रह किया कि वे आदिवासियों की पारंम्परिक रूढ़िवादी व्यवस्था से छेड़छाड़ ना करें. करम पर्व अपने टोला के अखड़ा या मौजा के अखड़ा में ही पारंम्परिक धार्मिक विधि विधान के साथ मनायें.

इसे भी पढ़ें – हाइमास्ट लाइट के लिए जल्द निकलेगा टेंडर, 2016-17 के बाद से राज्य में नहीं लगी है हाइमास्ट लाइट

5 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button