DhanbadTop Story

यह नया बाघमारा है, यहां रेप की राजनीति चलती है…

Sachidanand

Jharkhand Rai

Dhanbad: बाघमारा विधानसभा क्षेत्र में हत्या की राजनीति कोई नई बात नहीं है. हत्या और रंगदारी का मामला पहले भी चलता रहा है. अब बाघमारा में हत्या और रंगदारी पुरानी बात है.

नई बात यह है कि बाघमारा विधानसभा हत्या की राजनीति से निकलकर रेप की राजनीति कर रहा है. यहां के स्थानीय लोग आसानी से आपको यह बताते हुए मिल जायेंगे कि यह नया बाघमारा है, यहां रेप की राजनीति चलती है. इस राजनीति के केंद्र में हैं विधायक ढुल्लू महतो.

इसे भी पढ़ेंः13 महीनों के वेतन पर खुलकर बोल रहे हैं जवान, पढ़ें क्या कह रहे हैं

Samford

इन्हें इनके समर्थक टाइगर भी कहते हैं. कहते हैं कि ये गजब के शिकारी हैं. निशाना कभी चूकता ही नहीं. लेकिन ये टाइगर भी नये तरह के हैं. आपके पास टाइगर के जो उदाहरण होंगे, उससे बिलकुल उलट.

इसे भी पढ़ेंःआंगनबाड़ी आंदोलन : हेमंत के समर्थन से कांग्रेस के बदले बोल, प्रदेश अध्य़क्ष ने कहा “ बड़े भाई की भूमिका में रहेगी JMM”

यह टाइगर आगे से नहीं, पीछे से वार करता है. हालांकि इस टाइगर को इस बात की भी परवाह नहीं है कि अपने समाज में पीछे से वार करने वाले को क्या कहा जाता है.

यहां मुंह खोलना मना है

बाघमारा में इनके खिलाफ मुंह खोलना मना है. अगर आप मुंह खोलते हैं तो आप इनके निशाने पर हैं. आप पर कभी भी हमला हो सकता है. पहले हाथ–पैर तोड़ा जायेगा. अगर आप सुधर गये तो ठीक, नहीं तो आप पर एक रेप केस हो जायेगा.

माननीय विधायक जी की पार्टी के ही कुछ लोग कहते हैं कि माननीय के पास महिलाओं की एक फौज है, जिसका इस्तेमाल वे इसी काम के लिए करते हैं. नाम नहीं छापने की शर्त पर भाजपा कार्यकर्ताओं का कहना है कि ढुल्लू महतो विरोधियों को मात देने के लिए किसी भी हद तक जा सकते हैं. उनके पास पांच-छह ऐसी महिलाएं हैं जिसका इस्तेमाल वे केस करवाने के लिए करते हैं. तीन मामला तो आपके सामने ही है.

पहला मामला 

कतरास की एक महिला, थाना में आकर आत्मदाह करने की कोशिश करती है. वह चीख– चीखकर कहती है कि विधायक ढुल्लू महतो ने मेरी इज्जत लूटने की कोशिश की. लेकिन उसकी बात किसी ने नहीं सुनी. एफआइआर करना तो दूर, माननीय से पूछताछ तक नहीं की गयी.

प्रशासन चरण वंदना में लगा रहा. लेकिन इस घटना के कुछ दिनों बाद हुआ यह कि पीड़िता के पति पर कुछ मुकदमे हो गये. ये मुकदमे कब हो गये यह किसी को पता भी नहीं चला. पुलिस गिरफ्तार करने पहुंच गयी. पीड़िता के पति पर मुकदमा करने वाली यह महिला माननीय विधायकजी के साथ आसानी से देखी जाती है.

इसे भी पढ़ेंःछह महीने में पांच बड़ी वारदातेंः CCTV में कैद अपराधी की तस्वीर, फिर भी कार्रवाई नहीं

दूसरा मामला  

जग जाहिर है कि गिरिडीह के भाजपा सांसद रवींद्र पांडेय, विधायक ढुल्लू महतो के विरोधी रहे हैं. इनके खिलाफ आवाज उठाते रहे हैं. फलस्वरूप इनके ऊपर भी एक मुकदमा हुआ.

महिला ने इन पर छेड़छाड़ करने और दुष्कर्म की कोशिश करने का आरोप लगाया. आरोप लगाने वाली यह महिला भी माननीय विधायकजी के साथ कई कार्यक्रमों में देखी गयी हैं.

तीसरा मामला 

बियाडा के पूर्व अध्यक्ष विजय झा, ढुल्लू महतो के खिलाफ खुलकर बोलते रहे हैं. संघ से जुड़े रहे हैं. भाजपा के अंदरखाने में यह चर्चा भी है कि श्री झा को बाघमारा विधानसभा सभा से टिकट दिया जायेगा. इससे पहले भी उन्हें टुंडी विधानसभा से चुनाव लड़ने का ऑफर दिया जा चुका है.

लेकिन वे बाघमारा विधानसभा से ही चुनाव लड़ना चाहते थे. बात इसी पर अटकी हुई थी. बाजार में यह चर्चा जैसे ही जोर पकड़ी, उनके बेटे अनंत कृष्ण झा पर एक महिला ने छेड़छाड़ और दुष्कर्म की कोशिश करने का आरोप लगा दिया.

प्राथमिकी भी आसानी से दर्ज हो गयी. यह महिला भी माननीय विधायकजी के साथ विभिन्न कार्यक्रमों में आसानी से देखी जाती हैं. संयोग तो यह है कि विजय झा के बेटे पर आरोप लगाने वाली महिला और सांसद रवींद्र पांडेय पर आरोप लगाने वाली महिला दोनों पड़ोसी ही हैं.

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: