ChatraJharkhandLead NewsNEWSRanchiTOP SLIDER

ये झारखंड है, यहां बेटे से सिर्फ छह साल बड़ी है मां, पढ़ें पूरी खबर

Dharmendra pathak

Sanjeevani

Chatra: क्या किसी मां और बेटे के बीच उम्र का फासला छह साल हो सकता है? हर किसी का जबाव होगा नहीं. मगर झारखंड में ऐसा है. चतरा जिले के एक ही सरकारी स्कूल में मां और बेटा दोनों पदस्थापित हैं. बेटा स्कूल का प्रधानाध्यापक है और मां सहायक शिक्षिका. कागज पर बेटा अपनी मां से महज छह साल छोटा है. इस बात का खुलासा झारखंड शिक्षा परियोजना कार्यालय में दिया गया प्रमाण पत्र से हुआ है. मामला अधिकारियों के संज्ञान में आ चुका है.

MDLM

इसे भी पढ़ेंःBreaking: खूंटी में पुलिस के साथ मुठभेड़ में पीएलएफआई का एरिया कमांडर लाका पाहन मारा गया

प्रमाण पत्र में मां की जन्म तिथि 23 नवंबर 1980 है. वहीं उसके बेटे की जन्म तिथि तीन मई 1986 अंकित है. यह स्कूल सदर प्रखंड के लेम पंचायत के लातवेद गांव में स्थित है. जानकारी के अनुसार उत्क्रमित प्राथमिक विद्यालय, लातवेद में प्रधानाध्यापक पद पर कार्यरत अरविंद कुमार हैं, जबकि उनकी मां सुनिता देवी वहां पर सहायक अध्यापिका पद पर कार्यरत हैं. सुनिता देवी की नियुक्ति वर्ष 2003 में लेम पंचायत के उत्क्रमित प्राथमिक विद्यालय गोडरा में हुई थी. जबकि अरविंद की नियुक्ति 2005 में उत्क्रमित प्राथमिक विद्यालय लातवेद मे हुई. कई वर्षो तक एक ही स्कूल मे रहने के बाद अरविंद को स्कूल का प्रधानाध्यापक बना दिया. वहीं वर्ष 2018 में राज्य शिक्षा परियोजना के निर्देश पर तत्कालीन जिला शिक्षा पदाधिकारी ने डेढ़ किलो के दायरे में स्थित यूपीएस गोडरा को यूपीएस लातवेद में मर्ज कर दिया. परिणामस्वरूप सुनिता देवी को यूपीएस लातवेद में पदस्थापित कर दिया गया. उसके बाद से सुनिता वहां पर सहायक अध्यापिका के पद पर कक्षा एक से पांच तक के बच्चों को पढ़ा रही है.

 

डीएसई जितेंद्र कुमार सिन्हा ने कहा कि यह मामला अभी अभी संज्ञान में आया है. इस मामले की जांच को लेकर प्रखंड क्षेत्र शिक्षा पदाधिकारी को जांच का निर्देश दिया गया है. जांच रिपोर्ट आने के बाद अग्रतर कारवाई की जाएगी.

Related Articles

Back to top button