न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

वेटिकन के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ, पोप घुटनों पर बैठे, सभी नेताओं के पैर चूमे

पोप फ्रांसिस ने दक्षिण सूडान की लड़खड़ाती शांति प्रक्रिया को बढ़ावा देने के लिए विनम्रता का अभूतपूर्व मिसाल पेश करते हुए अफ्रीकी देश के प्रतिद्वंद्वी नेताओं के पैर छुए और उन्हें चूमा.

66

Vatican city :  वेटिकन सिटी के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है किसी पोप ने नेताओं के पैर चूमे हों. बता दें कि पोप फ्रांसिस ने दक्षिण सूडान की लड़खड़ाती शांति प्रक्रिया को बढ़ावा देने के लिए विनम्रता का अभूतपूर्व मिसाल पेश करते हुए अफ्रीकी देश के प्रतिद्वंद्वी नेताओं के पैर छुए और उन्हें चूमा. इस क्रम में अफ्रीकी नेताओं के लिए वेटिकन में आयोजित दो दिवसीय कार्यक्रम में पोप ने दक्षिण सूडान के राष्ट्रपति और विपक्षी नेता को बढ़ते संकट के बावजूद शांति समझौते के साथ आगे बढ़ने के लिए कहा.  इसके बाद वह घुटनों  के बल बैठ गये और एक-एक करके नेताओं के पैरों को चूमा.  पोप आमतौर पर एक रस्म के तौर पर होली थर्स्डे पर कैदियों के पैर धोते हैं, लेकिन नेताओं के साथ पहले ऐसा कभी नहीं किया गया.

इसे भी पढ़ेंः चुनावी बॉन्ड पर सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला, 30 मई तक चुनाव आयोग को चंदे की जानकारी दें पार्टियां

युद्धविराम का सम्मान किया जायेगा

Related Posts

44 अमेरिकी सांसदों ने डॉनल्ड ट्रंप को पत्र लिखा,  भारत को फिर से #GSP का दर्जा देने की मांग

ट्रंप प्रशासन ने सामान्य तरजीही प्रणाली (GSP) को 5 जून को खत्म कर दिया था. खबरों के अनुसार अमेरिकी व्यापार प्रतिनिधि रॉबर्ट लाइथिजर ने 17 सितंबर को पत्र लिखा है.

पोप ने अपने समापन वक्तव्य में दक्षिण सूडान के बारे में कहा, मैं हृदय से कामना व्यक्त करता हूं कि शत्रुताएं आखिरकार समाप्त हो जायेंगी, युद्धविराम का सम्मान किया जायेगा, राजनीतिक और जातीय विभाजन समाप्त कर दिया जायेगा और उन सभी नागरिकों के सामान्य हित के लिए स्थायी शांति कायम होगी जो राष्ट्र निर्माण को आरंभ करने का सपना देखते हैं. बता दें कि राष्ट्रपति सलवा कीर और विपक्षी दल के प्रमुख रीक मचर को एक साथ लाने के लिए आध्यात्मिक समारोह का आयोजन किया गया था.  उनके अलावा तीन उप राष्ट्रपति भी समारोह में मौजूद थे.  पोप ने उन सभी के पैर चूमे.

इसे भी पढ़ेंः  राफेल : भाजपा सांसद मीनाक्षी लेखी ने राहुल गांधी के खिलाफ SC में अवमानना याचिका डाली

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like

you're currently offline

%d bloggers like this: