न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

एलओसी पर हलचल बढ़ी, पाकिस्तान ने तैनात किये 2000 से अधिक सैनिक, भारतीय सेना अलर्ट

इस ब्रिगेड का इस्तेमाल पाकिस्तान जैश-ए-मोहम्मद और लश्कर-ए-तैयबा के आतंकियों को भारतीय क्षेत्र में घुसाने के लिए करेगा.  

382

NewDelhi :  पाकिस्तान ने लाइन ऑफ कंट्रोल (एलओसी) पर एक नयी  ब्रिगेड की तैनाती की है.  पीओके में हो रही  इस बड़ी हलचल से भारतीय सुरक्षा एजेंसियां सहित सेना अलर्ट हैं.  खबरों के अनुसार पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (पीओके) के पुंछ इलाके के पास बाग और कोटली सेक्टर में नयी ब्रिगेड को तैनात किया गया है.  ब्रिगेड में 2000 से अधिक सैनिक शामिल हैं.  सूत्रों के अनुसार  इस ब्रिगेड का इस्तेमाल पाकिस्तान जैश-ए-मोहम्मद और लश्कर-ए-तैयबा के आतंकियों को भारतीय क्षेत्र में घुसाने के लिए करेगा.

आतंकियों की घुसपैठ कराने की कोशिश में पाकिस्तान

हालांकि  इससे पूर्व  भी पाकिस्तान ने सरक्रीक इलाके और एलओसी  के पास  स्पेशल फोर्स के 100 जवान तैनाती किये थे, भारतीय सेना पाकिस्तान द्वारा  एलओसी के पास  तैनात की गयी नयी  ब्रिगेड पर अपनी नजर बनाये हुए है.  कहा जा कहा है कि  पाकिस्तान इन सैन्य तुकड़ियों की मदद से भारतीय सीमा में लश्कर के आतंकियों की घुसपैठ कराने की कोशिश कर सकता है. मौजूदा हालात में भले ही पाकिस्तानी सैनिकों की तैनाती भारतीय पोस्ट से 30 किलोमीटर की दूरी पर हुई हो लेकिन भारतीय सेना  की पाकिस्तान के इस कदम पर  पैनी नजर है.

जान लें कि हाल के दिनों में लश्कर और जैश के आतंकी पाकिस्तान की फॉरवर्ड पोस्ट की ओर आकर भारतीय सीमा में घुसपैठ की कोशिश में लगे हुए हैं. लेकिन सीमा पर भारतीय जवान मुस्तैदी से  पाकिस्तान के मंसूबों को ध्वस्त कर दे रहे हैं. पाकिस्तान की ओर से लगातार सीजफायर का भी उल्लंघन किया जा रहा है.  जिसका जवाब भारतीय सेना दे रही है.  जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने जाने के बाद से पाकिस्तान की बौखलाहट किसी से भी छुपी नहीं है.

इसे भी पढ़ें : अरुणाचल के सांसद ने चीनी घुसपैठ का लगाया आरोप, अस्थायी ब्रिज बनाने का दावा, भारतीय सेना का इनकार

 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
क्या आपको लगता है कि हम स्वतंत्र और निष्पक्ष पत्रकारिता कर रहे हैं. अगर हां, तो इसे बचाने के लिए हमें आर्थिक मदद करें. आप हर दिन 10 रूपये से लेकर अधिकतम मासिक 5000 रूपये तक की मदद कर सकते है.
मदद करने के लिए यहां क्लिक करें. –
%d bloggers like this: