न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

खुशबू मौत मामले से मेरा दूर-दूर तक कोई वास्‍ता नहीं : आश्‍ाीष मंडल

खुशबू की मौत पर विधायक पुत्र ने रखा अपना पक्ष

635

Dhanbad : बलियापुर  खेतटांड निवासी विजय मंडल  की पुत्री खुशबू मंडल की मौत पर स्थानीय विधायक फूलचंद मंडल के पुत्र आशीष मंडल के नाम सामने आने पर न्यूज़ विंग के संवाददाता ने शनिवार को खास बातचीत की. इस दौरान विधायक पुत्र आशीष ने कहा कि बच्ची की मौत पर मैं भी बहुत दुखी हूं. क्योंकि शादी के 14 साल के बाद विजय मंडल के घर एक पुत्री हुई थी, माता-पिता ने बच्ची का नाम खुशबू रखा था. बच्ची को काफी लाड़-प्यार से पालन पोषण कर रहे थे.लेकिन खुशबू अपनी सहेली सोनाली मंडल के साथ कुछ दिन पूर्व किस कारण से जहर खाकर आत्महत्या की, मेरे समझ से परे है. वहीं जहर खाने से सोलानी मंडल खतरे से बाहर है. पुत्री की मौत पर पिता काफी रो रहे थे. मैं जब उनके पास गया तब वे रोते-रोते कहे कि मेरी बेटी का शव फ्रिज में रखवा दीजिए साहब. मैंने डॉक्टर से बातकर पुत्री का शव फ्रिज में रखवाया.

वही खुशबू की मौत के प्रकरण में जहां तक हमारा नाम लिया जा रहा है, यह सरासर गलत है.  मैं इस मामले में  कहीं भी नहीं हूं. पुलिस ने घटनास्थल से 3 मोबाइल जप्त किए हैं. तीनों का कॉल डिटेल निकाला जाए ताकी सच्चाई क्या है, खुद-ब-खुद सामने आ जाएगा. वहीं उन्होंने यह भी कहा कि यह विपक्ष की एक सोंची समझी साजिश है, जिसके तहत हमारे नाम  को घसीटा जा रहा है, क्योंकि यहां के विधायक हमारे पिताजी फूलचंद मंडल हैं. रह गई बात खुशबू की मौत प्रकरण की तो मैं भी वरीय पुलिस प्रशासन से कहना चाहता हूं कि बच्ची की न्यायिक जांच हो ताकि घटना के पीछे  किसका हाथ है  खुद-ब-खुद सामने आ जाएगा. वहीं बता दें कि घटना के पीछे खुशबू के चाचा रंजन मंडल ने साफ साफ शब्दों में कह रहे हैं कि मेरी भतीजी आत्महत्या नहीं कर सकती,  उसकी हत्या हुई है. इसके पीछे विधायक के पुत्र की संलिप्त देखी जा रही है.

इसे भी पढ़ेंः बोले ढुल्‍लू महतो- आलाकमान ने टिकट दिया तो लड़ूंगा लोकसभा चुनाव

सवाल : दो सहेलियां ने जहर खाई एक ने आपका नाम क्यों लिया.

जवाब :  मेरा भतीजा  विश्वजीत मंडल  के द्वारा पता चला कि  सोनाली आपका नाम ले रही है. क्यों ले रही है यह तो हमें भी नहीं पता. मैंने अपने पत्नी समेत पूरे परिवार से पूछा  कि सोनाली मंडल  कौन है, सभी ने कहा हम नहीं जानते हैं.

सवाल : जब आपको कुछ पता ही नहीं था, तब आप अस्पताल कैसे पहुंचे.

जवाब : जब मैं पूरे परिवार से पता किया, सारे ने कहा हम नहीं जानते. तो मैंने खुद अस्पताल जाकर जानना चाहा कि आखिर कौन लड़की है जो मेरा नाम ले रही है.

सवाल : सोनाली ने आपको अस्पताल में देखकर कुछ कहा क्या.

जवाब : सोनाली और खुशबू की स्थिति काफी दयनीय थी,  देखते ही मैंने इलाज कर रहे डॉक्टर मुर्मू से पूछे की क्या स्थिति है दोनों का. डॉक्टर ने कहा, एक की स्थिति तो ठीक है, लेकिन दूसरे की स्थिति को देखकर लगता है कम चांस है बचने की.

सवाल : आखिर सोनाली और खुशबू ने जहर क्यों खाई, क्या हो सकता है.

जवाब: यह तो नहीं बता पाएंगे, लेकिन इतना जरूर कहेंगे कि मामला प्रेम प्रसंग का लग रहा है. जिसमें दो युवक  विकास मंडल एवं सूरज नापित का नाम आ रहा. यह भी सुना जा रहा है कि यह लोग बिग बाजार घूमने गईं थीं.

इसे भी पढ़ेंःराहुल गांधी के खिलाफ दायर केस वापस न्यायिक दंडाधिकारी के पास भेजा गया  

palamu_12

सवाल : प्रेम प्रसंग में किन कारणों से खुशबू और सोनाली ने जहर खाई है, पुलिस क्यों नहीं कर रही है जांच. 

जवाब :  खुशबू और सोनाली दोनों जब जहर खा ली थी तब वह राधा कृष्ण मंदिर में मूर्छित पड़ी हुई थीं. सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और अस्पताल लेकर आई. इसी दौरान पुलिसिया पूछताछ में  सोनाली ने कहा कि मुझे नहीं जीना है मुझे मर जाने दो, हमने जहर खाया है.

सवाल : जहर खाने के पीछे और कोई कारण हो सकता है क्या.

जवाब :  यह भी सुना जा रहा है कि धनबाद के रास्ते  सोनाली के साथ अपनी भतीजी खुशबू को  पैदल चलने के दौरान वह पूछ बैठे कि कहां जा रही हो. इतने में वह घबरा गई, इस दौरान चाचा ने डांट फटकार भी लगाई, जिससे वे काफी भयभीत थी.

इसे भी पढ़ेंःसीएम 18 को सफाईकर्मियों के साथ करेंगे बैठक, बनेगी नयी ड्राफ्ट एचआर पॉलिसी

सवाल : घटना स्‍थल से पुलिस ने तीन मोबाइल जप्त किया है, फिर क्‍यों जांच नहीं कर रही.

जवाब : मैं भी पुलिस प्रशासन से यही मांग करता हूं कि तीनों मोबाइल का लोकेशन व कॉल डिटेल्स निकाला जाए, ताकि घटना के पीछे किसका हाथ है, वह पकड़ा जा सके.

सवाल : खुशबू की मौत पर आपके पिता विधायक फूलचंद मंडल का पुतला क्यों फूंका जा रहा. 

जवाब : यह विपक्ष की मानसिकता है जो मृत हो गए है. उसपर भी  वे लोग राजनीति कर रहे हैं. क्योंकि विपक्ष के पास कोई मुद्दा रह नहीं गया है, जिससे वे आंदोलन कर सकें.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

%d bloggers like this: