JharkhandLead NewsRanchi

रिनपास में वर्षों से नहीं हैं स्थायी निदेशक, अब नियुक्ति नियमावली में होगा संशोधन

Ranchi : कांके स्थित रांची इंस्टीट्यूट ऑफ न्यूरो-साइकेट्री एंड एलाइड साइंसेज (रिनपास) सालों से स्थायी निदेशक का इंतजार कर रहा है. झारखंड लोकसेवा आयोग की ओर से कई बार विज्ञापन निकालने के बाद भी संस्थान को स्थायी निदेशक नहीं मिले.

अब राज्य सरकार रिनपास में निदेशक नियुक्ति नियमावली में संशोधन करेगी. इसके लिए 21 जून तक चिकित्सकों एवं अन्य लोगों से सुझाव मांगे गये हैं.

रिनपास में निदेशक की तलाश के लिए बार-बार विज्ञापन निकाला गया. लेकिन एक बार भी अभ्यर्थियों के आवेदन नहीं मिले. पिछली बार वर्ष 2019 में नियुक्ति के लिए विज्ञापन प्रकाशित होने के बाद महज दो अभ्यर्थियों के आवेदन मिले थे.

इसे भी पढ़ें :543 सीटों पर लड़नेवाले 8054 उम्मीदवारों ने 775 करोड़ रुपये खर्च बताया चुनाव आयोग को

इस कारण नियुक्ति नहीं हो सकी. जानकारी के मुताबिक इससे पहले रिनपास के लिए निदेशक की तलाश दूसरे राज्य से भी की जा चुकी है. राज्य सरकार दूसरे राज्यों में स्थित मनोचिकित्सा संस्थानों को भी विज्ञापन भेज कर वहां से चिकित्सकों से आवेदन मांगे थे.

पर किसी चिकित्सक ने इस पद पर नियुक्ति में रुचि नहीं दिखायी. अब राज्य सरकार ने इस पद पर नियुक्ति के लिए चिकित्सकों को आकर्षित करने के लिए नियुक्ति नियमावली में संशोधन करने का निर्णय लिया है.

इसे भी पढ़ें :मौसम विभाग की चेतावनी, बिहार के 11 जिलों सहित पटना में भारी बारिश का रेड अलर्ट

विज्ञान पदाधिकारी नियुक्ति की हुई अनुशंसा

झारखंड लोक सेवा आयोग ने खान एवं भूतत्व विभाग के अधीन कार्यरत भूतत्व निदेशालय में विज्ञान पदाधिकारी नियुक्ति के लिए चयनित उम्मीदवारों की अनुशंसा कर दी है. यह अनुशंसा पांच पदों पर नियुक्ति के लिए की गयी है.

आयोग ने बुधवार को इस परीक्षा का अंतिम परिणाम जारी किया है. अनुसूचित जनजाति श्रेणी से 31700004, 31700011 तथा 31700040, एससी श्रेणी से 31700070 तथा अत्यंत पिछड़ा वर्ग श्रेणी से 31700072 क्रमांक के अभ्यर्थी सफल घोषित किये गये हैं.

इसे भी पढ़ें :बिहार-झारखंड के बीच की दूरी कम करेगा 205 करोड़ की लागत से बननेवाला ये पुल

Related Articles

Back to top button